ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारनीतीश की जीभ क्यों नहीं काट दी गई, इतना अशिष्ट लालू यादव भी नहीं हैं : स्वामी रामभद्राचार्य

नीतीश की जीभ क्यों नहीं काट दी गई, इतना अशिष्ट लालू यादव भी नहीं हैं : स्वामी रामभद्राचार्य

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा अपने बयान पर माफी मांगे जाने को लेकर भी स्वामी रामभद्राचार्य ने हमला बोला। उन्होंने कहा कि मां को गाली देकर फिर माफी मांग लो, ये क्या बात हुई।

नीतीश की जीभ क्यों नहीं काट दी गई, इतना अशिष्ट लालू यादव भी नहीं हैं : स्वामी रामभद्राचार्य
Jayesh Jetawatलाइव हिन्दुस्तान,पश्चिम चंपारणThu, 09 Nov 2023 09:33 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनसंख्या नियंत्रण पर महिलाओं को लेकर दिए गए बयान पर हंगामा थम नहीं रहा है। चित्रकुट के तुलसी पीठाधीश्वर स्वामी रामभद्राचार्य ने सीएम नीतीश के बयान की आलोचना की है। पश्चिम चंपारण के रामनगर में रामकथा ज्ञान महायज्ञ के दौरान उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार जब ऐसा गंदा बयान दे रहे थे, तो उसी समय उनकी जीभ क्यों नहीं काट दी गई। संत ने कहा कि आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव भी इतना अशिष्ट नहीं बोलते हैं। उन्होंने सीएम नीतीश को मूर्ख कहकर भी संबोधित किया।

रामकथा के अंतिम दिन स्वामी रामभद्राचार्य ने सभा में बुधवार को कहा कि बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री को क्या हो गया है, यह समझ नहीं आ रहा है। उनकी इस गलती पर राज्यपाल को तत्काल एक्शन लेना चाहिए और उन्हें उन्हें बर्खास्त करना चाहिए था। बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। रामभद्राचार्य ने कहा कि इतना निम्न कोटि का भाषण उन्होंने अपने जीवन में आज तक कभी नहीं सुना। बिहार में बड़े अच्छे लोग हुए, बिहार मूर्ख नहीं है। इतनी अशिष्टता लालू यादव ने भी अपने वक्तव्य में कभी नहीं की है। 

संत ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार ने पूरी शिष्टता को ताक पर रख दिया। वे क्या चाहते हैं यह समझ नहीं आ रहा है। रामायण काल में किसी ने इतना अशिष्ट नहीं बोला था। महाभारत काल में भी सिर्फ दुर्योधन ने द्रौपदी के लिए कहा था, लेकिन वो भी इतना अशिष्ट नहीं था। बिहार का सदन काम शास्त्र की व्याख्या का सदन नहीं है बल्कि नीति शास्त्र के बारे में बात करने का सदन है।

नीतीश के विवादित बयान का मामला कोर्ट पहुंचा, मुजफ्फरपुर में केस दर्ज

मुख्यमंत्री द्वारा माफी मांगे जाने को लेकर भी स्वामी रामभद्राचार्य ने हमला बोला। उन्होंने कहा कि अब क्षमा मांगने से क्या होता है। मां को गाली देकर माफी मांग लो, ये क्या बात हुई। मुख्यमंत्री जब भाषण दे रहे थे तभी उनकी जीभ क्यों नहीं काट दी गई। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार जो सदन में कह रहे थे वो कुत्तों की व्याख्या है। जानवर भी शिष्टता रखते हैं, लेकिन मुख्यमंत्री ने हद पार कर दी।