ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारतेजस्वी को सीएम की कुर्सी सौंप कर आराम करें नीतीश; सुशील मोदी बोले- पीएम का सपना भारी पड़ रहा

तेजस्वी को सीएम की कुर्सी सौंप कर आराम करें नीतीश; सुशील मोदी बोले- पीएम का सपना भारी पड़ रहा

सुशील मोदी ने आरोप लगाए कि जेडीयू के लोग नीतीश कुमार के ऐसे बयानों का बचाव करने पर उतर आए हैं। यह और शर्मनाक है।

तेजस्वी को सीएम की कुर्सी सौंप कर आराम करें नीतीश; सुशील मोदी बोले- पीएम का सपना भारी पड़ रहा
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाFri, 10 Nov 2023 06:47 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विधानसभा के अंदर हालिया की टिप्पणियों पर सियासत गर्माई हुई है। राज्य के पूर्व डिप्टी सीएम एवं बीजेपी सांसद सुशील कुमार मोदी ने अब उनपर तंज कसा है। उन्होंने नीतीश को सलाह दी है कि वे तेजस्वी यादव को बिहार की सत्ता सौंप दें। साथ ही तेजस्वी को सीएम की कुर्सी सौंपकर वे आराम करें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री बनने का सपना नीतीश के मानसिक संतुलन पर बहुत भारी पड़ रहा है।

बीजेपी से राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने गुरुवार को बयान जारी कर सीएम नीतीश कुमार पर करारा तंज कसा। उन्होंने कहा कि नीतीश ने पहले महिलाओं पर टिप्पणी की। इसके बाद महादलित समाज के वरिष्ठ नेता जीतन राम मांझी पर जो बयान दिया वो उनकी मानसिक स्थिति को दर्शाता है। अपने से उम्र में 10 साल बड़े मांझी के लिए उन्होंने जिन शब्दों का प्रयोग किया, सदन के बाहर ऐसा करने पर दलित उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज हो गया होता। इसलिए अब उन्हें संवैधानिक पद छोड़ देना चाहिए।

सुशील मोदी ने आरोप लगाए कि जेडीयू के लोग ऐसे बयानों का बचाव करने के लिए जीव विज्ञान की पुस्तक से प्रजनन प्रक्रिया का पाठ पढ़ाने पर उतर आए हैं। यह और शर्मनाक है।

हम चार-पांच महीना सीएम रह जाते तो नीतीश को कुत्ता तक नहीं पूछता - मांझी का पलटवार

बता दें कि सीएम नीतीश ने तीन दिन पहले विधानसभा में जनसंख्या नियंत्रण पर बात करते हुए महिलाओं को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। इस पर बवाल मचा तो उन्होंने अगले दिन माफी मांग ली। वहीं, गुरुवार को विधानसभा में आरक्षण बिल पर जब पूर्व सीएम जीतनराम मांझी बोल रहे थे तो नीतीश बीच में उठ गए। उन्होंने मांझी को विधानसभा में ही जमकर सुनाया। नीतीश ने यह तक कह दिया कि मांझी को मुख्यमंत्री बनाना उनकी मूर्खता थी। अब इस पर सियासी बखेड़ा मचा हुआ है। बीजेपी ने सीएम से इस्तीफे की मांग की है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें