DA Image
20 जनवरी, 2020|3:46|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले सुशील मोदी, बेहतर होता कि आरोपियों को फांसी मिलती

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि हैदराबाद में गैंगरेप के चारों आरोपियों के पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने से भले ही जनता, विशेषकर महिलाओं ने राहत की सांस ली। लेकिन बेहतर होता कि इसकी नौबत न आती और न ही किसी को अंगुली उठाने का मौका मिलता। फास्ट ट्रैक कोर्ट के फैसले के बाद उन्हें फांसी दी जाती।

शुक्रवार को ट्वीट कर कहा है कि हैदराबाद में गैंगरेप के बाद महिला डाक्टर को जलाने की घटना के बाद देश भर में दुख और आक्रोश का जो वातावरण बना, वह स्वाभाविक था। जनता ऐसे अपराधियों को तत्काल फांसी पर लटके देखना चाहती है, लेकिन शासन केवल भावावेश से नहीं चलता। ऐसे मामलों में त्वरित न्याय के लिए केंद्र और राज्य की सरकारें हर संभव पहल कर रही हैं।

एक अन्य ट्वीट में कहा कि गैंगरेप की बढ़ती घटनाओं पर कारगर अंकुश लगाने के लिए संविधान के दायरे में ही कई विकल्प मौजूद हैं।  राज्यसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने मौजूदा कानून में संशोधन का सुझाव देने के लिए कमेटी गठित की है। दो दिसंबर को बिहार पुलिस ने सभी महिला थाना को निर्देश जारी किए कि रेप के मामले में 10 माह के भीतर फैसला सुनिश्चित करें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sushil Modi said on Hyderabad encounter it would have been better if the accused were hanged