ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारसुशील मोदी: बतौर वित्तमंत्री 11 बार पेश किया बिहार का बजट, टिफिन में लाते थे रोटी और भुजिया

सुशील मोदी: बतौर वित्तमंत्री 11 बार पेश किया बिहार का बजट, टिफिन में लाते थे रोटी और भुजिया

सुशील मोदी अपने स्वास्थ्य के प्रति बेहद सजग थे। बहुत ही सादा खाना खाते थे। विधानमंडल की कार्यवाही के दौरान अपने साथ टिफिन में वे दो सादी रोटी और भुजिया लाते थे। समय पर भोजन करने के पाबंद थे।

सुशील मोदी: बतौर वित्तमंत्री 11 बार पेश किया बिहार का बजट, टिफिन में लाते थे रोटी और भुजिया
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाTue, 14 May 2024 12:35 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बिहार सरकार का 11 बार बजट पेश किया था, यह एक रिकॉर्ड है। वर्ष 2005 के नवंबर में बिहार में एनडीए की सरकार बनी तब, वह उपमुख्यमंत्री बने। साथ ही उन्हें वित्त विभाग की जिम्मेदारी दी गयी थी। वह जितने दिन एनडीए की सरकार में रहे, वित्त विभाग का जिम्मा उन्होंने ही संभाला। पहली बार उन्होंने वर्ष 2006 में विधानमंडल के दोनों सदनों में बजट पेश किया था। वित्तीय मामलों के वे काफी जानकार थे। वित्तीय मामलों में उनकी रुचि भी थी। वह, इस बात को कहा भी करते थे। 2006 से वर्ष 2013 तक उन्होंने लगातार आठ बार बिहार का बजट पेश किया। इसके बाद बिहार में राजनीतिक परिस्थिति ऐसी बनी की जून, 2013 से जुलाई, 2017 तक भाजपा सत्ता से बाहर रही। वर्ष 2017 में वह फिर वित्त मंत्री बने और वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव तक इस पद पर रहे। इस दौरान उन्होंने तीन बार बजट पेश किया।  इस तरह कुल 11 बार उन्होंने बजट पेश किया था।  

मोदी जी की टिफिन में दो सादी रोटी और भुजिया
अपने स्वास्थ्य के प्रति सुशील कुमार मोदी बेहद सजग थे। बहुत ही सादा खाना खाते थे। विधानमंडल की कार्यवाही के दौरान अपने साथ टिफिन में वे दो सादी रोटी और भुजिया लाते थे। समय पर भोजन करने के पाबंद थे। दोपहर में दो बजे कार्यक्रम के बीच में भी वे दो रोटी और भुजिया खा लेते थे। व्यस्तता के दौरान सहयोगी उन्हें रोटी के साथ भुजिया रोल कर दे देते थे। अक्सर उनकी टिफिन में करैले का भुजिया होता था। अतिथियों के स्वागत के लिए वे हमेशा तत्पर रहते थे। अतिथियों को लजीज व्यंजन खिलाते थे, लेकिन खुद फल और कम तेल और मशाले वाली भुजिया के साथ दो सादी रोटी ही ग्रहण करते थे। 

सीएम इन वेटिंग ही रह गए नीतीश के सबसे प्रिय उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, कागज के डॉक्टर थे बीजेपी नेता

फेसस थी बनारसी चाट वाली पार्टी
पटना में वे बनारसी चाट पार्टी आयोजित करते थे। नेताओं, कार्यकर्ताओं के साथ वे मीडिया के साथियों इस पार्टी में आमंत्रित करते थे। एक-एक लोग से मिलते और प्रेमपूर्वक खाने के लिए आग्रह करते। बनारसी चाट, पटना सिटी की कचौड़ी, आलूदम, कई वेराइटी की कुल्फी, दही-चूड़ा, बनारस वाली पूड़ी सब्जी सहित कई प्रकार के व्यंजन परोसते थे।