DA Image
30 मार्च, 2020|9:44|IST

अगली स्टोरी

कोरोना से मिलती-जुलती नामों वाली दो हजार वेबसाइटों से रहें अलर्ट

वैश्विक संकट के रूप में सामने आये कोरोना के खतरों के बीच साइबर फ्रॉड भी सक्रिय हो गये हैं। बीते 25 दिनों में दो हजार से अधिक कोरोना डोमेन वाली वेबसाइट का रजिस्ट्रेशन करा लिया है। इनका रजिस्ट्रेशन कोरोना और कोविड-19 जैसे मिलते-जुलते नामों से कराया गया है। ऐसी और भी वेबसाइट लगातार बनाई जा रही है। फ्रॉड इन साइटों के माध्यम से यूजर को चूना लगा सकते हैं।  
     सूत्रों की मानें तो करीब 100 से अधिक ऐसी वेबसाइट को आईटी मंत्रालय (सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग) ने ट्रेस भी कर लिया है जो गलत नीयत से बनाई गईं हैं। मंत्रालय ने आशंका भी जतायी है कि ये यूजर की  गुप्त जानकारी को हैक कर सकते हैं। मंत्रालय ने ऐसी वेबसाइट को हिट न करने की सलाह दी है।

गूगल पर बढ़ा कोरोना का सर्च ट्रेंड
विभागीय रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस को लेकर गूगल पर सर्च ट्रेंड काफी बढ़ गया है। इस ट्रेंड ने अब और भी मजबूती पा ली है। कोरोना के बारे में संदेहास्यपद वेब डोमेन की जानकारी पहली बार मार्च के पहले सप्ताह में देखा गया था। इसके बाद से यह बढ़कर दो हजार से अधिक हो गया है।

चुरा रहे गोपनीय जानकारी
भारत के आईटी मंत्रालय की कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम सर्ट-इन ने भी इसे लेकर अलर्ट जारी किया है। टीम ने कहा है कि कोरोना के बारे में अधिक से अधिक जानकारी पाने की लोगों की ललक को देखते हुए उन्हें फिशिंग का शिकार आसानी से बनाया जा रहा है। ठग वेबसाइटों के जरिये  लोगों की गोपनीय जानकारी चुरा रहे हैं।

संदिग्ध मेल क्लिक न करें, फिशिंग से बचें
भारतीय एजेंसी ने यूजर को फिशिंग या संदिग्ध मेल क्लिक न करेने की सलाह दी है। संदेहस्यपद या पैनिक फैलाने वाली साइट न  खोलने की सलाह भी दी गई है। इसे खोलने पर यूजर का डाटा खतरे में पड़ जा सकता है। ऐसी साइट के लगातार विलिंक करने पर इसकी शिकायत सर्विलांस सेल से जरूर करें।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Stay alert from 2000 websites with similar names to Corona