DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बिहटा में बनेगा राज्य का 19वां मेडिकल कॉलेज, केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने दी 500 बेड का अस्पताल बनाने की अनुमति
बिहार

बिहटा में बनेगा राज्य का 19वां मेडिकल कॉलेज, केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने दी 500 बेड का अस्पताल बनाने की अनुमति

हिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाPublished By: Sneha Baluni
Fri, 17 Sep 2021 01:30 PM
बिहटा में बनेगा राज्य का 19वां मेडिकल कॉलेज, केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने दी 500 बेड का अस्पताल बनाने की अनुमति

राज्य के पटना स्थित बिहटा में स्थापित कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) अस्पताल में मेडिकल कॉलेज बनेगा। अब इसे ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के रूप में संचालित किया जाएगा। केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने 500 बेड के इस अस्पताल में मेडिकल कॉलेज संचालित करने को लेकर मंजूरी प्रदान कर दी है।

केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव ने इसकी जानकारी बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को शुक्रवार को दी। वर्तमान में इस अस्पताल में मरीजों का इलाज किया जा रहा है। कोरोना काल में इस अस्पताल का उपयोग कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए भी किया गया था। 

राज्य का 18वां मेडिकल कॉलेज अस्पताल पूर्णिया में बनकर तैयार है और राष्ट्रीय मेडिकल काउंसिल द्वारा इसका निरीक्षण किया गया है। ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज अस्पताल राज्य का 19वां मेडिकल कॉलेज अस्पताल होगा। 

करीब 500 डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों की होगी नियुक्ति 

ईएसआईसी अस्पताल को मेडिकल कॉलेज अस्पताल के रूप में विकसित करने को लेकर करीब 500 डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों की नियुक्ति की जाएगी। इनमें करीब दो सौ विभिन्न विभागों के प्राध्यापक, विशेषज्ञ चिकित्सक शिक्षक व अन्य चिकित्सकों की नियुक्ति शामिल होगी।

इसके अतिरिक्त बड़ी संख्या में पैरा मेडिकलकर्मियों की भी नियुक्ति की जाएगी। इस अस्पताल में वर्तमान में भवन, चिकित्सा सुविधा, छात्रावास, कक्षाएं इत्यादि बनकर पहले से ही तैयार हैं। मेडिकल कॉलेज बनाए जाने पर यहां पठन-पाठन को लेकर आवश्यक उपकरणों की खरीद की जाएगी। ये सभी कार्य केंद्रीय श्रम मंत्रालय के स्तर से किए जाएंगे।

आसपास के जिलों की बड़ी आबादी को होगा फायदा 

राज्य के पश्चिमी इलाके में सोन नदी के किनारे राजधानी से सटे मेडिकल कॉलेज की स्थापना से पटना, भोजपुर, बक्सर, अरवल, औरंगाबाद व अन्य जिलों की बड़ी आबादी को इलाज की सुविधा मिल जाएगी। वर्तमान में ईएसआईसी अस्पताल के संचालन में डॉक्टरों व पैरामेडिकल कर्मियों की कमी भी दूर हो जाएगी।

बिहार के स्वास्थ्य विभाग के मंत्री मंगल पांडेय ने कहा, 'प्रधानमंत्री के जन्मदिन के पूर्व मेडिकल कॉलेज की मंजूरी दिए जाने की सूचना राज्यवासियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। इसके लिए केंद्र सरकार व केंद्रीय श्रम मंत्री के प्रति आभार व्यक्त करता हूं।'

संबंधित खबरें