DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारभागलपुर में बेटे ने पिता व मासूम बच्चे को कुल्हाड़ी से काट डाला, भीड़ के हत्थे चढ़ा आरोपी, पुलिस ने किसी तरह बचाया

भागलपुर में बेटे ने पिता व मासूम बच्चे को कुल्हाड़ी से काट डाला, भीड़ के हत्थे चढ़ा आरोपी, पुलिस ने किसी तरह बचाया

भागलपुर हिन्दुस्तान टीमMalay Ojha
Sun, 14 Nov 2021 10:36 PM
भागलपुर में बेटे ने पिता व मासूम बच्चे को कुल्हाड़ी से काट डाला, भीड़ के हत्थे चढ़ा आरोपी, पुलिस ने किसी तरह बचाया

भागलपुर जिले के सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के महेशी पंचायत स्थित पुरानी मोतीचक में रविवार दोपहर पौने दो बजे एक पुत्र ने अपने पिता सहित गांव के एक बच्चे को धारदार कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं उसने दो अन्य लोगों को भी धारदार हथियार से प्रहार कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने हत्यारोपी को खदेड़कर पकड़ाना चाहा। इस दौरान मौके पर दल-बल के साथ पहुंचे सुल्तानगंज थानाध्यक्ष लाल बहादुर ने भीड़ के बीच में जाकर हत्यारोपी को अपने कब्जे में ले लिया। जिसके चलते उसकी जान बच गई।

इधर हत्यारोपी दीपक कुमार मंडल को ग्रामीणों द्वारा पुलिस से मुक्त कराने का प्रयास महेशी चौक के समीप किया गया लेकिन असफल रहने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस वैन पर ईंट चलाकर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया। जख्मी महिला महेश्वर खातून (45), महेशी एवं रामदेव यादव तिलकपुर को ग्रामीणों ने रेफरल अस्पताल पहुंचाया। जहां दोनों को चिकित्सक ने मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया गया। पुलिस के कब्जे में लिया गया हत्यारोपी को भी इलाज के लिए रेफरल अस्पताल लाए जाने पर चिकित्सक ने उसे भी मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया। मृतक सियाराम दास उर्फ सियाराम मंडल (70) एवं रवि कुमार (6) के शवों को पुलिस ने पोस्टमार्टम में भेज दिया। 

विधि-व्यवस्था सदर डीएसपी डॉ गौरव कुमार ने बताया कि पुत्र दीपक मंडल (40) ने अपने 70 वर्षीय पिता सियाराम दास उर्फ सियाराम मंडल और छह साल के बच्चे रवि कुमार की हत्या धारदार हथियार से कर दी व दो अन्य को घायल कर दिया है। आरोपी को त्वरित कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया है। ग्रामीणों ने आरोपी के विक्षिप्त होने की बात कही है। जिसका सत्यापन कराया जाएगा। आवेदन आने पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

धारदार हथियार लेकर खोजने आया और ले ली दो की जान

पुरानी मोतीचक गांव में शनिवार को घटी घटना के प्रत्यक्षदर्शी की मानें तो घटना के पूर्व हत्यारोपी दीपक कुमार मंडल अपने हाथ में धारदार हथियार कुल्हाड़ी और गड़ांसा लेकर गांव में स्थित सत्संग भवन में रह रहे अपने पिता सियाराम दास उर्फ सियाराम मंडल को खोजने आया था। इस दौरान उसने रास्ते में ही किसी धर्म स्थल से एक त्रिशूल साथ लेकर सत्संग भवन पहुंचा। वहां बालक रवि कुमार को खेलते देख उसने उसे उठाकर समीप के अपनी बहन बिंदो देवी के घर लेकर चला गया और उसे धारदार हथियार से काटने लगा। इस दौरान पिता सियाराम दास उर्फ सियाराम मंडल ने बच्चे को बचाने का भरपूर प्रयास किया। लेकिन वह सफल नहीं हो सके। दीपक ने बच्चे को काटकर उसकी जान ले ली। इसके बाद उसने अपने पिता को भी काटकर हत्या कर दी। 

घटना की सूचना पर दौड़े ग्रामीणों ने उसे पकड़ने का प्रयास किया। इस दौरान घटनास्थल रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। हाथ में धारदार हथियार देख ग्रामीण उससे दूरी बनाकर उसे पकड़ने के लिए खदेड़ना शुरू किया। ग्रामीणों को चकमा देकर वह महेशी स्टेशन की तरफ भागा और इस दौरान उसने सामने आई एक महिला महेश्वर खातून तथा रामदेव यादव पर धारदार हथियार से प्रहार कर दोनों को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। उससे पकड़ने के लिए पीछे से ग्रामीण दौड़ ही रहे थे कि तब तक पुलिस पहुंच गयी। पुलिस ने उसे गांव से पूरब महंत बाबा स्थान के पास अपने कब्जे में ले लिया। ग्रामीणों की भीड़ से ईंट-पत्थर फेंके जाने से आरोपी भी गंभीर रूप से जख्मी हो गया। 

दिव्यांग पिता का इकलौता पुत्र था बालक रवि

छह वर्षीय बालक रवि कुमार दिव्यांग रुदल मंडल का इकलौता पुत्र था। पिता ने बताया कि पुत्र रवि का गांव के ही एक सरकारी स्कूल में नामांकन कराया था। पुत्र की भी दिमागी हालत ठीक नहीं रहने से उसका इलाज चल रहा था। अब तक लाखों रुपए खर्च किए जा चुके थे। घटना से पूर्व वह अपने घर के समीप खेल रहा था। जिसकी धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी गई। पुत्र की मौत के बाद मां ललिता देवी बेसुध हो गई हैं।

 

हत्यारोपी पांच भाई में सबसे छोटा है

हत्यारोपी दीपक कुमार मंडल अपने पांच भाई में सबसे छोटा है। इसके दूसरे भाई निरंजन मंडल ने बताया कि दीपक पिछले चार वर्षों से दिमागी रूप से कमजोर चल रहा है। परिवार से अलग रहने के बावजूद मैं उसका इलाज करा रहा हूं। इधर ग्रामीण महिलाओं की मानें तो हत्यारोपी दीपक की शादी विजयनगर बरियारपुर में प्रीति देवी के साथ हुई है। जिससे उसे चार बच्चे हैं लेकिन कुछ दिनों पहले उसकी पत्नी उसे छोड़कर मायके चली गई है। तब से वह अपने घर में नहीं रहकर इधर-उधर रह रहा था।

 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें