Skirmish in tea plantation owners and tribals attack with arrows - चाय बागान मालिकों और आदिवसियों में झड़प, तीर से हमला, डीएम पर भी फेंके पत्थर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चाय बागान मालिकों और आदिवसियों में झड़प, तीर से हमला, डीएम पर भी फेंके पत्थर

kiishanganj

बिहार के किशनगंज में पिछले डेढ़ माह से चाय बागान पर स्थानीय आदिवसियों ने कब्जा कर लिया है। आज स्थिति उस समय बिगड़ गई जब पूजा कर रहे आदिवासियों को रोकने के लिए बागान मालिक के लोग वहां पहुंचे तो आदिवासियों ने तीर से हमला कर दिया। आधा दर्जन लोगों को तीर लगे हैं। एक युवक के सीने में धंस गया है। उसकी हालत गंभीर है। एक दर्जन थानों की पुलिस पहुंच गई है। समझाने गए डीएम पर भी पत्थर फेंके गए। पुलिस ने बचाव में भांजी लाठियां। पुलिस ने और बल प्रयोग किया तो आदिवासियों ने गाड़ियों पर हमला कर दिया। पुलिस के जवानों ने उनकी झोपड़ियों में आग लगा दी है।

प्रशासन ने इनको सरकारी नियमों के हवाले से 5 डिसमिल जमीन का आफर दिया था मगर ये लोग एक बीघा जमीन की मांग कर रहे हैं। दो और चाय बागानों पर भी इन्होंने कब्जे का प्रयास किया, मगर पुलिस ने विफल कर दिया।

उधर आदिवासियो का कहना है कि वे वर्षो से भूमिहीन होने के साथ सरकारी योजनाओ से आजतक वंचित है ।आज भी दर्जनो परिवार संग सैकड़ो लोगो को वोटर आईकार्ड संग अधार कार्ड नही मिला है ।जब -जब हमे जमीन दी जाती है तो ऐसी जगह दी जाती है जो बसोवास के लायक नही होती है ।कभी नदी किनारे तो कभी बंजर रूपी जमीन प्रदान की जाती है ।जिससे मजबूरन हमें यह कदम उठाना पड़ता है । गौरतलब हो कि आदिवासी ने मो इम्तियाज की चाय बागान को जबरन कब्जा कर लिया है। 

निश्चित नहीं कि तृणमूल कांग्रेस सरकार 2021 तक बनी रहेगी: विजयवर्गीय

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Skirmish in tea plantation owners and tribals attack with arrows