ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबॉल खोजने खाली पड़े घर में घुसे बच्चे, अचानक हुआ बम विस्फोट; 6 गंभीर घायल

बॉल खोजने खाली पड़े घर में घुसे बच्चे, अचानक हुआ बम विस्फोट; 6 गंभीर घायल

खाली पड़े मकान में हुए बम विस्फोट से 6 बच्चे घायल हो गए। बम निरोधक दस्ता ब्लास्ट की वजह पता करने में जुटा है। बताया जा रहा है कि घर के अदंर देसी बम रखा था, उसी में विस्फोट हुआ।

बॉल खोजने खाली पड़े घर में घुसे बच्चे, अचानक हुआ बम विस्फोट; 6 गंभीर घायल
Jayesh Jetawatएचटी,बेगूसरायTue, 28 Nov 2023 08:55 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के बेगसूराय जिले में बम विस्फोट होने से 6 बच्चे घायल हो गए हैं। घटना मंगलवार दोपहर में नावकोठी पुलिस थाना इलाके के पहसारा इलाके में हुई। बताया जा रहा है कि कुछ बच्चे खाली पड़े घर के पास खेल रहे थे। उनकी बॉल घर के अंदर चली गई। जब बच्चे अंदर बॉल खोजने गए तो अचानक बम विस्फोट हो गया। यह देसी बम बताया जा रहा है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

जानकारी के मुताबिक घायल बच्चों में दो लड़कियां भी शामिल हैं। नावाकोठी पुलिस ने कहा कि यह विस्फोट गांव के बाहरी इलाके में स्थित एक सूनसान मकान में हुआ। बताया जा रहा है इस घर में पहले असामाजिक तत्व रहते थे। धमाके में घायल हुए सभी बच्चे गांव के ही रहने वाले हैं और उनकी उम्र करीब 10 साल के आसपास है।

बेगूसराय के एसपी योगेन्द्र कुमार ने एचटी को बताया कि धमाका दोपहर करीब 2.30 बजे हुआ। 6 नाबालिग बच्चे दोपहर में एक खाली पड़े घर के पास खेल रहे थे। यह घर बैद्यनाथ नाम के शख्स का बताया जा रहा है। मकान काफी समय से सूना पड़ा था। एसपी के मुताबिक बच्चों की गेंद उस घर में चली गई। फिर सभी अंदर गए और बॉल खोजने लगे।

इनमें से एक बच्चे ने घर के अंदर कुछ लपेटा हुआ सामान उठाया। जब वो उसे खोलने की कोशिश कर रहा था, तो उसके हाथ से गिर गया और जोरदार विस्फोट हो गया। धमाके की आवाज सुनकर आसपास के इलाके में दहशत फैल गई। 

एसपी ने बताया कि घायल बच्चों को तुरंत इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। विस्फोट की वजह के बारे में पता लगाया जा रहा है। मौके पर बम निरोधक दस्ता भी बुलाया गया और अन्य संदिग्ध वस्तुओं की जांच की गई है। 

पुलिस विस्फोट में इस्तेमाल किए गए विस्फोटक उपकरण की प्रकृति का पता लगाने की कोशिश कर रही है। कुछ लोगों का कहना है कि विस्फोटक चीज उस सूने मकान में पड़ी हुई थी। बच्चे उसे उठाकर ले आए और गेंद की तरह दीवार पर फेंक दिया। इससे उसमें विस्फोट हो गया और उसके छर्रे लगने से बच्चे घायल हो गए।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विस्फोट की तीव्रता से ऐसा लग रहा है कि यह एक देसी बम था। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस और प्रशासन की टीम ने मौके पर पहुंचकर तुरंत इलाके की घेराबंदी कर दी और लोगों को वहां से हटा दिया। 

बेगूसराय रेंज के डीआइजी बाबू राम का कहना है कि बम निरोधक दस्ते की रिपोर्ट आने के बाद ही विस्फोट के असली कारण का खुलासा हो सकेगा। उन्होंने बताया कि जांच टीम ने सैंपल इकट्ठा कर लिए हैं। प्रथम दृष्टया यह देसी बम फटने का मामला नजर आ रहा है। 

एक पूर्व पुलिस अधिकारी जेआर यादव का कहना है कि अपराधी और गुंडे किस्म के लोग कूड़े के ढेर में अक्सर बम छिपाते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस और जिला प्रशासन ने इस पर आंखें मूंद ली हैं। उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें