DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › भारत बंद: सीतामढ़ी में सुबह नौ बजे सड़कों पर उतर गये बंद समर्थक, कुछ ऐसे रहे हालात
बिहार

भारत बंद: सीतामढ़ी में सुबह नौ बजे सड़कों पर उतर गये बंद समर्थक, कुछ ऐसे रहे हालात

हीटी,सीतामढ़ीPublished By: Sudhir Kumar
Mon, 27 Sep 2021 02:28 PM
भारत बंद: सीतामढ़ी में सुबह नौ बजे सड़कों पर उतर गये बंद समर्थक, कुछ ऐसे रहे हालात

 किसान बिल के खिलाफ आहूत भारत बंद में सीतामढ़ी जिले में बंद समर्थकों ने सुबह नौ बजे से सड़क पर उतर गए। राजद सहित किसान-मजदूर संगठनों ने बाजार को बंद कराया। मेहसौल चौक व कारगिल चौक पर बन्द समर्थकों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की कृषि कानून के तीन चिन्हित प्रावधानों को वापस लेने की मांग की।  बंद समर्थकों ने सड़क परिवहन को कई स्थानों पर प्रभावित किया। इस दौरान स्कूल बस को छोड़ कर अन्य सभी प्रकार के यातायात बाधित रहा। बन्द समर्थको ने शहर के अलावा विभिन्न प्रखंडो में भी जुलुस निकालकर प्रदर्शन किया और बाजार बंद कराया। इस वजह से आम लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ा। लेकिन बंद समर्थकों ने बीमार और दूध की गाड़ियों को नहीं रोका। बीमारों को लेकर जा रहे एम्बुलेंस को सहयोग देकर निकाला गया।

हालांकि कई प्रखंडों में भारत बंद का असर नहीं देखा गया। बंदी को लेकर स्कूल कॉलेजों को पहले ही बंद कर दिया गया था। पहले से निर्धारित विश्वविद्यालय की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया था। लेकिन  बैंकों का काम काज प्रभावित नहीं हुआ।  बाजार मे भी बहुत सारी दुकानें खुली रहीं। बन्द के दौरान राजद के पूर्व सांसद अर्जुन राय, पूर्व विधायक सुनील कुमार कुशवाहा, राजद जिलाध्यक्ष मो. शफीक खां, सीपीआई कर सचिव जय प्रकाश राय, किसान संगठन के डॉ आनंद किशोर सहित दर्जनों नेता शामिल थे।

संबंधित खबरें