ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारश्री राम सबके हैं; अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा पर बोला आफताब- रामलला ने कराई वतन वापसी, 10 माह से फंसा था सऊदी में

श्री राम सबके हैं; अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा पर बोला आफताब- रामलला ने कराई वतन वापसी, 10 माह से फंसा था सऊदी में

आफताब ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर की स्थापना और 500 साल बाद प्रभु श्री राम को उनका घर मिलने की खबर मिली तो उनसे गुहार लगाई कि मुझे भी अपने घर भेज दीजिए। उनकी कृपा से मेरी घर वापसी हुई।

श्री राम सबके हैं; अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा पर बोला आफताब- रामलला ने कराई वतन वापसी, 10 माह से फंसा था सऊदी में
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,मुजफ्फरपुरThu, 25 Jan 2024 06:54 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद खुले मंच से कहा-  राम सबके हैं।  इधर बिहार के मुजफ्फरपुर के आफताब ने प्रधानमंत्री के कथन पर अपने भरोसे के मोहर लगा दी। 10 महीने से सऊदी अरब में फंसा आफताब शेख अपने वतन लौट तो बोला कि उधर राम जी को घर मिला और उन्होंने मुझे अपने घर पहुंचा दिया। एक एजेंट ने डेढ़ लाख रुपए ठग कर गलत तरीके से उसे नौकरी के नाम पर सऊदी पहुंचा दिया था जहां उसे नाकाम मिल रहा था ना भारत आने का कोई रास्ता। 

बार-बार प्रभु श्री राम का आभार जता रहे आफताब शेख मुजफ्फरपुर के औराई के रहने वाले हैं। रोजी रोटी के जुगाड़ में बिचलियों के माध्यम से आफताब सऊदी अरब चले गए। फर्जीवाड़ा के शिकार आफताब को ना तो वहां काम मिल रहा था और नहीं लौटने का उपाय। कई बार वीडियो जारी कर आफताब ने सरकार से गुहार लगाई थी कि उन्हें वतन वापस कराया जाए। लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी। घर लाने के लिए आफताब दर-दर की ठोकर खा रहे थे और कहीं से कोई उम्मीद की किरण भी दिखाई नहीं दे रही थी।  एक चैनल के साथ इंटरव्यू में आफताब ने बताया अयोध्या में राम मंदिर की स्थापना और 500 साल बाद प्रभु श्री राम को उनका घर मिलने की खबर मिली तो उनसे गुहार लगाई कि मुझे भी अपने घर भेज दीजिए।  प्रभु ने मेरी सुन ली और उनकी कृपा से मेरी वतन वापसी सुनिश्चित हुई।

घर जाकर आफताब अपने पत्नी और बच्चों से मिलकर काफी खुश हैं। भगवान राम की कृपा की चर्चा करते थक नहीं रहे हैं । उन्होंने कहा कि अल्लाह हो या श्रीराम सब एक ही हैं।  किसी को दिल से याद करें तो उनका रहमों करम इंसान को नसीब होता है। सऊदी में फरियाद लगा रहा था कि चाहे अल्लाह की शक्ल में हो या श्री राम की शक्ल में ऊपर वाला मेरी मदद करें। मुझे भी बाल बच्चे से मिलने का मौका दिलाए।

दरअसल औराई के भलूड़ा के निवासी आफताब शेख सऊदी अरब में जाकर ठगी का शिकार हो गए।  रियाद में पिछले 10 महीने से नौकरी के लिए दर-दर की ठोकर खा रहे थे। जिस कंपनी में काम करने गए थे वहां जॉब तो नहीं मिला उल्टे भारत लौटने के लिए इकरार पत्र तक नहीं दी जा रही थी। यहां तक कि दूतावास से भी उन्हें मदद नहीं मिल रही थी। पड़ोसी गांव का एक युवकों से दिल्ली ले गया और वहां से फिर डेढ़ लाख रूपए लेकर सऊदी अरब भेज दिया वहां एक कंपनी  में मजदूरी करने के लिए भेजा लेकिन ना उसे काम दिया जा रहा था और ना ही खाने पीने के पैसे दिए जा रहे थे। इस कारण वह काफी परेशान रह रहा था। घर से पैसे मांगा करो जैसे तैसे 10 महीने जिंदा रहा। अब रामललला के साथ उसे भी घर परिवार मिल गया।

इस मामले में बिहार सरकार के मंत्री इसराइल मंसूरी करते हैं कि राम सबके हैं।  उनका आशीर्वाद और कृपा सबको मिलता है। जो उन्हें दिल से याद करता हैउसकी मदद करते हैं इसमें कोई शक नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारा देश भगवान राम और अल्लाह को समान रूप से मानता है। यही हमारी सांस्कृतिक विशेषता है कि सभी धर्मों का सम्मान होता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें