ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारश्रावणी मेला 2024: सुल्तानगंज में बनेगी 600 बेड की टेंट सिटी, शिवजी की भव्य मूर्ति भी लगेगी

श्रावणी मेला 2024: सुल्तानगंज में बनेगी 600 बेड की टेंट सिटी, शिवजी की भव्य मूर्ति भी लगेगी

श्रावणी मेला 2024 के लिए बिहार पर्यटन विभाग भागलपुर जिले के सुल्तानगंज में 600 बेट की टेंट सिटी तैयार करेगा। इसके अलावा मेला परिसर में शिवजी की भव्य मूर्ति भी स्थापित की जाएगी।

श्रावणी मेला 2024: सुल्तानगंज में बनेगी 600 बेड की टेंट सिटी, शिवजी की भव्य मूर्ति भी लगेगी
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाFri, 21 Jun 2024 11:18 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के पर्यटन विभाग ने श्रावणी मेले की तैयारी शुरू कर दी है। पर्यटन मंत्री नीतीश मिश्रा ने निदेशालय सभागार में शुक्रवार को तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने सभी जरूरी तैयारियां समय से पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सुल्तानगंज में भी कई श्रद्धालु आवासन करना चाहते हैं। इसके बाद निर्णय लिया गया कि 600 बेड की टेंट सिटी सुल्तानगंज में बनाई जाएगी। 

मिश्रा ने कहा कि सुल्तानगंज में ही शिवजी का एक भव्य मूर्ति स्थापित की जाए, जहां पर भक्ति संगीत का निरंतर प्रसारण होता रहे। उन्होंने सभी जगहों पर सुविधाओं के सूचनापट्ट और उनपर हेल्पलाइन नंबर लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने टेंट सिटी में तिथिवार चादर बदलने के साथ साफ-सफाई, और पर्याप्त पंखे की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। 

इससे पहले पर्यटन सचिव अभय कुमार सिंह ने बताया कि श्रावणी मेला के बेहतर आयोजन के लिए आवश्यक तैयारी कर ली गई है। वरीय पदाधिकारियों की टीम ने श्रावणी मेला स्थली सुल्तानगंज से मेला पथ में झारखंड बॉर्डर तक निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट विभाग को सौंप दी है। रिपोर्ट के बाद जरूरी इंतजाम की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है। 

पर्यटन विकास निगम एमडी नंदकिशोर ने बताया कि सुल्तानगंज में गंगा तट पर पर्यटन सूचना केंद्र के साथ गंगा आरती की व्यवस्था रहेगी। इसके साथ ही धोबई, खैरा और अबरखा में क्रमशः 200, 200 और 600 श्रद्धालुओं के लिए आवासन की टेंट सिटी में उच्चस्तरीय व्यवस्था की जाएगी। बैठक में पर्यटन निदेशक विनय कुमार राय, उप सचिव इंदू कुमारी, उप निदेशक प्रदीप गुप्ता, महाप्रबंधक अभिजीत कुमार आदि मौजूद रहे। 

24 घंटे हेल्पलाइन का संचालन
पर्यटन निगम एमडी ने कहा कि मेला प्रक्षेत्र का सौंदर्यीकरण, कांवरियों के लिए बैठने के लिए जगह जगह पर बेंच और कांवर रखने के लिए सौंदर्यीकृत स्टैंड बनाए जाएंगे। कचरा का संग्रहण और उनका निस्तारण लगातार किया जाता रहेगा। श्रद्धालु को कोई भी समस्या हो तो उसके समाधान के लिए 24 घंटे हेल्पलाइन का संचालन किया जाएगा, जहां से उन्हें त्वरित समाधान मिलेगा।