DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार: आचार संहिता मामले में शरद यादव ने कोर्ट में किया सरेंडर

sharad yadav

लोकतांत्रिक जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने मंगलवार को बिहारशरीफ व्यवहार न्यायालय के विधायक-सांसदों से जुड़े मामलों के लिए बने स्पेशल कोर्ट में सरेंडर किया। न्यायाधीश एसीजेएम प्रथम संजय कुमार मिश्रा ने आवेदन पत्र पर सुनवाई के बाद जमानत दी। वे आचार संहिता उल्लंघन मामले में आरोपित थे। उन्हें तीन हजार रुपए के बांड भरने के बाद छोड़ा गया। श्री यादव के कोर्ट में पहुंचते ही उनके समर्थक काफी संख्या में वहां पहुंच गये।

उनकी ओर से वरीय अधिवक्ता अरुण कुमार ने बहस की। बहस के दौरान ही उन्होंने मामले में आरोप गठन करने का आग्रह किया। इसपर न्यायाधीश श्री मिश्रा ने निर्धारित तिथि पर ही मामले में आरोप गठन किया जाएगा। मामले में अलगी तिथि 23 मई निर्धारित है। खुदागंज थाना क्षेत्र के महमूदा गांव निवासी कपिलदेव सिंह ने इनकी ओर से जमानतदार बने।

क्या था मामला
उनके अधिवक्ता शशिभूषण कुमार सिंह ने बताया कि शहर के श्रम कल्याण केंद्र के मैदान में सात अक्टूबर 2015 के विधान सभा की चुनावी सभा के संबोधन में धर्म व संप्रदाय का नाम लिया था। इसपर तत्कालीन सीओ सुनील कुमार वर्मा ने बिहार थाने में आचार संहिता का उल्लंघन करने की एफआईआर दर्ज करायी थी। उस वक्त वे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद कोर्ट ने 4 मार्च 2016 को संज्ञान लेते हुए सम्मन जारी करने का आदेश दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sharad Yadav surrenders in court in case of code of conduct