Sex racket scandal court issued commercials against RJD MLA - सेक्स रैकेट कांड: राजद विधायक के खिलाफ इश्तेहार जारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेक्स रैकेट कांड: राजद विधायक के खिलाफ इश्तेहार जारी

चर्चित सेक्स रैकेट कांड में राजद विधायक अरुण यादव के खिलाफ सोमवार को कोर्ट ने इश्तेहार जारी कर दिया। इस बाबत पुलिस ने सोमवार को ही गिरफ्तारी वारंट लौटाते हुए कोर्ट में अर्जी दी थी। पुलिस ने इश्तेहार के साथ ही कुर्की के लिए भी कोर्ट में अर्जी दी थी। लेकिन कोर्ट ने पुलिस की कुर्की की अर्जी को नामंजूर कर दिया। अब पुलिस कुर्की की तैयारी करेगी। सूत्रों की मानें तो आरा पुलिस की एक टीम विधायक के पटना स्थित आवास के समीप कैंप कर रही है। उनके करीबियों पर नजर रखी जा रही है। विधायक के कंकड़बाग स्थित एक करीबी के घर भी सोमवार को पुलिस टीम उनकी टोह लेने गयी थी। दूसरी ओर कोर्ट के आदेश पर इस कांड की पीड़ता को सोमवार को चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के हवाले कर दिया गया। 

बता दें कि छह सितंबर को किशोरी के पुनर्बयान में राजद विधायक अरुण यादव का नाम आया था। उसके बाद पुलिस ने बीते बुधवार को गिरफ्तारी वारंट के लिए अर्जी दी थी। कोर्ट द्वारा शुक्रवार को वारंट जारी कर दिया गया था। इसके बाद से ही पुलिस विधायक के पीछे लगी है। लेकिन चार दिन बाद भी पुलिस उन्हें नहीं ढूंढ़ सकी है। वहीं तमाम अटकलों के बीच अब तक विधायक द्वारा सरेंडर भी नहीं किया जा सका है। 

घर नहीं, अब अल्पावास गृह में रहेगी पीड़िता
सेक्स कांड की पीड़िता को महिला विकास मंच द्वारा सोमवार को आरा सिविल कोर्ट में पेश किया गया। इसके बाद कोर्ट के आदेश पर किशोरी को सीडब्ल्यूसी को सौंप दिया गया। ऐसे में किशोरी अब घर के बदले अल्पावास गृह में रहेगी। मालूम हो कि एक सितंबर को किशोरी का वीडियो वायरल होने के बाद छह सितंबर को मामले की जांच करने पटना की महिला विकास मंच की एक टीम आरा आयी थी। मामले की जांच व कोर्ट में बयान दर्ज कराने के बाद टीम किशोरी को अपने साथ पटना लेकर चली गयी थी। तब से किशोरी महिला विकास मंच व पटना पुलिस के संरक्षण में थी। कोर्ट के आदेश पर सोमवार को महिला विकास मंच की टीम उसे लेकर आरा पहुंची। उसके बाद किशोरी को कोर्ट के सामने पेश किया गया। बता दें कि महिला विकास मंच की पहल व हस्तक्षेप के बाद ही किशोरी का कोर्ट में दुबारा 164 का बयान दर्ज कराया गया था। उसमें राजद विधायक का नाम आया और यह मामला पूरी तरह हाई प्रोफाइल बन गया था। 

प्राथमिकी पर भड़की महिला विकास मंच की सदस्य
किशोरी को ले आरा पहुंची महिला विकास मंच की सदस्यों के तेवर काफी तल्ख दिखे। किशोरी का फोटो वायरल मामले में प्राथमिकी दर्ज किये जाने पर मंच की सदस्य काफी नाराज थीं। सदस्यों ने भोजपुर पुलिस के अफसरों खासकर एसपी के प्रति नाराजगी जाहिर की। उनका कहना था कि भोजपुर पुलिस की इस कार्रवाई से उन लोगों को काफी निराशा हुई है। सदस्य ने फोटो वायरल मामले में प्राथमिकी किये जाने पर सवाल भी खड़ा किया। उनका कहना था कि एक सितंबर को वायरल किए गए किशोरी के वीडियो के आधार पर मामले की जांच करने आयी थी। उस वीडियो में किशोरी का चेहरा साफ तौर पर दिख रहा था। लेकिन उस मामले में आज तक केस नहीं किया गया। लेकिन किशोरी की भूल के कारण एक सदस्य के फेसबुक पर एक फोटो पोस्ट हो गया। उसे आधार बनाकर किशोरी व कानून की मदद करने आयी सदस्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी। सदस्यों का कहना था कि पटना जाने के रास्ते में किशोरी एक मेंबर का मोबाइल चला रही थी। इसी में फोटो फेसबुक पर पोस्ट हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sex racket scandal court issued commercials against RJD MLA