ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारदूसरी बीवी ने गलतफहमी में कर दिया रेप केस, 11 महीने बाद जेल से बाहर आया पति

दूसरी बीवी ने गलतफहमी में कर दिया रेप केस, 11 महीने बाद जेल से बाहर आया पति

पटना में एक शख्स पर उसकी दूसरी पत्नी ने दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए 6 साल पहले केस दर्ज कराया। पुलिस ने पिछले साल गिरफ्तार कर उसे जेल में डाल दिया था। कोर्ट ने अब उसे बरी कर दिया है।

दूसरी बीवी ने गलतफहमी में कर दिया रेप केस, 11 महीने बाद जेल से बाहर आया पति
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाFri, 17 May 2024 10:41 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार की राजधानी पटना से एक चौंकाने वाला सामने आया है। एक शख्स के खिलाफ उसकी दूसरी पत्नी ने 6 साल पहले मारपीट, धोखाधड़ी और रेप का केस दर्ज कर दिया। पुलिस ने 11 महीने पहले पति को गिरफ्तार कर लिया। कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया। अब 11 महीने बाद दूसरी पत्नी ने कहा कि गलतफहमी में यह केस हुआ था। उसका आरोपी से कोई विवाद नहीं है। अदालत ने जेल में बंद पति को रिहा करने का आदेश दिया है।

पटना के प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश संगम सिंह ने शुक्रवार को दुष्कर्म, दूसरी शादी करने और मारपीट के एक मामले में आरोपित पति-पत्नी के खिलाफ साक्ष्य का अभाव पाते हुए दोषमुक्त कर दिया। कोर्ट ने पिछले 11 माह से न्यायिक हिरासत के तहत जेल में बंद पति प्रवेंद्र कुमार को जेल से मुक्त करने आदेश दिया है। इस कांड में पुलिस एवं अभियोजन पक्ष आरोपी पति-पत्नी पर लगे आरोप को साबित करने में असफल रहा। 

कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि सूचिका और दूसरी पत्नी ने कोर्ट के समक्ष दिए साक्ष्य में घटना का समर्थन नहीं किया। दूसरी पत्नी ने कहा कि आरोपी पति प्रवेंद्र कुमार के साथ उसकी साल 2016 में मंदिर में शादी हुई थी। इसी बीच वह छोटे-मोटे विवाद को लेकर भ्रमवश शास्त्रीनगर थाना चई गई, जहां थानेदार ने उससे एक सादे कागज पर हस्ताक्षर ले लिया। उस कागज पर क्या लिखा गया था उसे नहीं बताया गया। आरोपी से उसे कोई शिकायत नहीं है। 

सूचिका के माता-पिता ने कोर्ट में घटना का समर्थन नहीं किया। सूचिका ने अपनी मर्जी से प्रवेंद्र से शादी की थी और दोनो में मतभेद हो गया। गवाहों के बयान और उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर कोर्ट ने आरोपी पति प्रवेंद्र कुमार और उसकी पहली पत्नी को आरोप से मुक्त कर दिया।
 
शास्त्रीनगर थाने में 14 जून 2018 को दुष्कर्म, शादीशुदा होते हुए प्यार का झांसा देकर दूसरी शादी करने और मारपीट समेत अन्य आपराधिक धाराओं में पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। सूचिका ने आरोप लगाया था कि प्रमेंद्र कुमार ने खुद को कुंआरा बताकर उससे शादी कर ली थी। उसे एक बच्ची भी हुई। इस बीच एक महिला अन्य लोगों के साथ आ कर उसके साथ मारपीट करने लगी। पता चला कि महिला प्रवेंद्र कुमार की पहली पत्नी है। इस मुकदमे में प्रवेंद्र कुमार और उसकी पहली पत्नी अनीता देवी को अभियुक्त बनाया था। 

पुलिस ने इस मामले की पांच साल तक जांच की। जांच में आरोप सही पाते हुए पति प्रवेंद्र कुमार को 12 जून 2023 को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पुलिस ने इस कांड के दोनों आरोपियों पर लगे आरोप को सही पाते हुए 31 अगस्त 2023 को कोर्ट में चार्जशीट दायर की गई थी।