ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहाररोहिणी आचार्य ने बीजेपी से कहा- बाहरी नहीं, बेटी हूं; सारण में औरतें बोलती हैं- लालू उनके भगवान हैं

रोहिणी आचार्य ने बीजेपी से कहा- बाहरी नहीं, बेटी हूं; सारण में औरतें बोलती हैं- लालू उनके भगवान हैं

सारण लोकसभा सीट से आरजेडी प्रत्याशी रोहिणी आचार्य ने हिन्दुस्तान टाइम्स के साथ बातचीत के दौरान पीएम मोदी और भाजपा पर जमकर हमला बोला। रोहिणी ने कहा कि पीएम ने अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया है।

रोहिणी आचार्य ने बीजेपी से कहा- बाहरी नहीं, बेटी हूं; सारण में औरतें बोलती हैं- लालू उनके भगवान हैं
Malay Ojhaविजय कुमार स्वरूप,छपराTue, 14 May 2024 05:22 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के सारण लोकसभा सीट पर इस बार मुकाबला बड़ा दिलचस्प होता दिखाई दे रहा है। इस बार सारण सीट से आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने अपनी दूसरी बेटी रोहिणी आचार्य को उम्मीदवार बनाया है। वहीं एनडीए से भाजपा ने अपने वर्तमान सांसद राजीव प्रताप रूडी पर एक बार फिर से विश्वास जताया है। सारण में सीधा मुकाबला बीजेपी के राजीव प्रताप रूडी और आरजेडी के रोहिणी आचार्य के बीच होता दिख रहा है। हिन्दुस्तान टाइम्स के साथ खास बातचीत के दौरान रोहिणी आचार्य ने कई सवालों के जवाब दिए। रोहिणी ने भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला बोला। 

दरअसल, सारण लोकसभा क्षेत्र के बारे में कहा जाता है कि यह लालू यादव की परंपरागत सीट है। 1977 में लालू प्रसाद यादव पहली बार सारण से ही लोकसभा का चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे। इसके बाद लालू प्रसाद यादव 2004 और 2009 में सारण से जीत दर्ज की थी। लालू की बेटी रोहिणी आचार्य की बात करें तो सोशल मीडिया पर अधिक एक्टिव रहती हैं, जहां बीजेपी और विरोधियों को जमकर खरी-खोटी सुनाती हैं। लालू यादव की जब तबीयत खराब हुई और डॉक्टर ने किडनी ट्रांसप्लांट की बात कही तो उस समय रोहिणी आचार्य ने अपनी किडनी देकर अपने पिता लालू प्रसाद की जान बचाई थी। जिसके बाद से रोहिणी आचार्य को लेकर एक सकारात्मक बात होने लगीं। 

मोदी अंकल, मढ़ौरा आइए, साथ बैठकर चाय पिएंगे; लालू की बेटी रोहिणी ने पीएम को क्यों दिया न्योता?

राजनीति में एंट्री को लेकर रोहिणी आचार्य ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि यह न केवल मेरे लिए बल्कि लोगों, कार्यकर्ताओं और समर्थकों के लिए भी कठिन था। आप देखिए, आज मैं तीन घंटे देरी से चल रही हूं (वह गंगा नदी के किनारे गरखा विधानसभा सीट के अंतर्गत महराजगंज गांव में रोड शो कर रही थीं)। दोपहर का समय है और अभी भी बच्चे, महिलाएं, जिनमें से कुछ की उम्र 100 वर्ष से अधिक है, चिलचिलाती धूप में सिर्फ मुझे देखने के लिए, लालू प्रसाद की बेटी को देखने के लिए इंतजार कर रहे हैं। महिलाएं मुझे आशीर्वाद के रूप में पैसे देती हैं। महिलाएं मुझसे कहती हैं कि लालू प्रसाद हमारे लिए भगवान की तरह हैं। वे मुझे भविष्य में भी प्यार और अपनी शुभकामनाएं देते रहने का आश्वासन देते हैं।

फिर करवट बदलने के प्रयास में हैं चाचा, नीतीश कुमार को लेकर रोहिणी आचार्य का दावा

जब रोहिणी से पूछा गया कि आप भोजपुरी भाषी क्षेत्र में चुनाव प्रचार कर रही हैं। प्रचार के दौरान अपनी बातों को स्थानीय लोगों के बीच रखने में कोई समस्या तो नहीं आती है। इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि भोजपुरी और हिंदी मेरी मातृभाषा हैं, हालांकि मैं दैनिक जीवन में इसका बहुत कम ही इस्तेमाल करती हूं, लेकिन इन लोगों से मिलने के बाद मेरे लिए उनकी भाषा में आसानी से संवाद करना आसान हो जाता है।

जनता के सामने आप किन मुद्दों को लेकर वोट मांगने के लिए जाती हैं? इसका जवाब देते हुए रोहिणी आचार्य ने कहा कि सारण के मतदाताओं की मुख्य मांग और मुद्दों की बात करें तो वह है बेरोजगारी। यहां के युवा रोजगार चाहते हैं। आम आदमी लगातार बढ़ती महंगाई से राहत चाहता है। इसके अलावा सारण में जल निकासी व्यवस्था बेहद खराब है। जब बारिश होने लगती है तो सारी नालियां उफनने लगती हैं। उन्होंने कहा कि मेरे पिता लालू प्रसाद यादव ने 1992 में जेपी विश्वविद्यालय नाम से विश्वविद्यालय खोला था। छात्रों की शिकायत है कि सत्र बहुत देर से चल रहा है। उन्हें 10 साल में इसमें सुधार करना चाहिए था। स्वास्थ्य एक अन्य क्षेत्र है, जिसमें बहुत सुधार की आवश्यकता है। मैं मेडिकल ग्रेजुएट हूं। मैं उन्हें और उनके बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने का काम करूंगी। रोहिणी ने कहा कि मेरे भाई तेजस्वी यादव जब उप मुख्यमंत्री थे तो उन्होंने 17 महीने में पांच लाख नौकरियां दीं।

मीसा भारती और रोहिणी आचार्य को लेकर राबड़ी देवी ने किया बड़ा दावा, जानिए क्या कहा?

वर्तमान राजनीति में नेताओं द्वारा व्यक्तिगत टिप्पणियों को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए रोहिणी आचार्य ने कहा कि इस तरह की घटिया भाषा हम बचपन से सुनते आ रहे हैं और बीजेपी इसमें माहिर है। पूरे देश में लोगों ने मेरे पिता को किडनी देने की सराहना की लेकिन भाजपा ने 'टिकट के लिए किडनी' कहकर एक नया मोड़ दे दिया है। यह दुखद है। जब वे हमारे खिलाफ बोलते हैं तो उनमें मेरी बात सुनने की हिम्मत होनी चाहिए। रोहिणी ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा महिलाओं का अपमान करना जानती है। चाहे महिला पहलवानों का मामला हो, प्रज्वल मामला हो, भाजपा ने क्या किया? रोहिणी ने आरोप लगाते हुए कहा कि जो लोग महिलाओं का अपमान करते हैं उन्हें भाजपा द्वारा सम्मानित किया जाता है। वे महिलाओं को अपमानित करने में विश्वास रखते हैं, उनकी संस्कृति ऐसी ही है। 

वर्तमान राजनीति में नेताओं द्वारा व्यक्तिगत टिप्पणियों को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए रोहिणी आचार्य ने कहा कि इस तरह की घटिया भाषा हम बचपन से सुनते आ रहे हैं और बीजेपी इसमें माहिर है। पूरे देश में लोगों ने मेरे पिता को किडनी देने की सराहना की लेकिन भाजपा ने 'टिकट के लिए किडनी' कहकर एक नया मोड़ दे दिया है। यह दुखद है। जब वे हमारे खिलाफ बोलते हैं तो उनमें मेरी बात सुनने की हिम्मत होनी चाहिए। रोहिणी ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा महिलाओं का अपमान करना जानती है। चाहे महिला पहलवानों का मामला हो, प्रज्वल मामला हो, भाजपा ने क्या किया? रोहिणी ने आरोप लगाते हुए कहा कि जो लोग महिलाओं का अपमान करते हैं उन्हें भाजपा द्वारा सम्मानित किया जाता है। वे महिलाओं को अपमानित करने में विश्वास रखते हैं, उनकी संस्कृति ऐसी ही है। 

भाजपा के द्वारा बाहरी बताए जाने को लेकर रोहिणी आचार्य ने कहा साफ कहा कि मैं यहां की बेटी हूं। ये सारे आरोप हताशा के कारण लगाए जा रहे हैं। दरअसल, बिहार के उपमुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा था कि रोहिणी आचार्य सिंगापुर की 'बहू' हैं, बिहार की 'बेटी' नहीं हैं। नीतीश कुमार को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए रोहिणी आचार्य ने कहा कि महागठबंधन ने उन्हें इतना सम्मान दिया लेकिन अब उन्होंने भाजपा की मशाल थाम रखी है। हर कोई उन्हें देख रहा है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 मई 2024 को पटना में रोड शो कर रहे थे। इस दौरान पीएम के साथ रथ पर सवार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा का चुनाव चिह्न कमल दिखाते नजर आए। 

एक अन्य सवाल का जवाब देते हुए रोहिणी ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा असली मुद्दों से भटक गई है। आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना कोई भी वादा पूरा नहीं किया। बिहार समेत पूरा देश जानता है। वह सिर्फ हिंदू-मुस्लिम, पाकिस्तान की बात कर रहे हैं। रोहिणी ने कहा कि मैं भी सिंगापुर से आई हूं, वहां इनके (पीएम मोदी) के बारे में कोई बात नहीं करता। रोहिणी ने सवाल करते हुए पूछा कि हर साल दो करोड़ रोजगार का क्या हुआ? वे रोजगार देने के बजाय पकौड़े की दुकान खोलने का सुझाव देते हैं। हर खाते में 15 लाख रुपये, चुनावी बांड मुद्दे का क्या हुआ? बिहार की जनता जागृत है। रोहिणी आचार्य ने दावा करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजे सारे गणित बिगाड़ देंगे।