ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारसम्राट चौधरी का सरेंडर, आगे भी नीतीश कुमार को कंधा चढ़ाएंगे; बोले- इसमें परेशानी क्या है

सम्राट चौधरी का सरेंडर, आगे भी नीतीश कुमार को कंधा चढ़ाएंगे; बोले- इसमें परेशानी क्या है

बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि 2025 का बिहार विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्व में हम लोग लड़ेंगे। अभी भी उनके नेतृत्व में चल रहें हैं। आगे भी चलेंगे।

सम्राट चौधरी का सरेंडर, आगे भी नीतीश कुमार को कंधा चढ़ाएंगे; बोले- इसमें परेशानी क्या है
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,पटनाThu, 06 Jun 2024 02:22 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के बाद सियायी उठापटक और बयानबाजी और तेज हो गई है। इस बीच आज बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने बड़ा बयान दिया। उन्होने कहा कि हम 2025 का विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्व में लड़ेंगे। 1996 से हम नीतीश कुमार के नेतृत्व में चल रहे हैं। आगे भी चलेंगे इसमें परेशानी क्या है। दरअसल आज बिहार बीजेपी की बैठक थी। जिसके खत्म होने के बाद सम्राट चौधरी ने ये बयान दिया। 

डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने कहा कि बिहार में 75 फीसदी सीटें जनता ने हमें जिताई हैं। ये हमारे कुशल चुनाव प्रबंधन का नतीजा है। और जिन 25 फीसदी सीट पर हार मिली है। उनकी समीक्षा कर रहे हैं। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि 2025 का चुनाव हम लोग नीतीश कुमार के नेतृत्व और मार्गदर्शन में ही लड़ेंगे। हालांकि इससे पहले सम्राट चौधरी कहते आए हैं कि बिहार में 2025 का चुनाव बीजेपी अपने दम पर लड़ेगी और किसी को कंधा नहीं चढ़ाएगी। लेकिन अब सम्राट चौधरी के तेवर बदले-बदले लग रहे हैं।

यह भी पढ़िए- सम्राट चौधरी डिप्टी सीएम बने लेकिन पगड़ी नहीं खोली, कहते थे- बीजेपी अब किसी को कंधा नहीं चढ़ाएगी

आपको बता दें इससे पहले बुधवार को जेडीयू के वरिष्ठ नेता और मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा था कि 2024 के लोकसभा इलेक्शन रिजल्ट ने 2025 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव का मार्ग भी प्रशस्त कर दिया है। 2025 का चुनाव बिहार में सीएम नीतीश के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा। अब वही बात बीजेपी के सम्राट चौधरी कह रहे हैं। मतलब 2025 का चुनाव बिहार में एनडीए नीतीश कुमार के नेतृत्व में लड़ा जाएगा।

इससे पहले कल यानि बुधवार को प्रधानमंत्री आवास पर हुई राजग की बैठक में घटक दलों ने मोदी के नेतृत्व पर विश्वास जताया। बैठक में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार, तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू समेत 15 दलों के 21 नेता मौजूद रहे। इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा को अपने दम पर पिछली दो बार की तरह बहुमत हासिल नहीं हुआ है। ऐसे में नई सरकार बनाने में जेडीयू और टीडीपी की भूमिका अहम होगी। टीडीपी के पास 16 सीटेें, जदयू के पास 12 सीटें हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि सरकार जल्द बननी चाहिए।

यह भी पढ़िए- देश में जाति जनगणना, बिहार को स्पेशल स्टेटस और 5 मंत्री; नीतीश की जेडीयू तगड़ा मोलभाव करने वाली है

इस चुनाव में भाजपा को 240 सीटें मिलीं हैं, जो बहुमत की संख्या 272 से 32 कम हैं। हालांकि, राजग 293 सीटों के साथ बहुमत से आगे हैं। भाजपा ने सरकार के गठन के लिए राजनाथ सिंह, अमित शाह और जेपी नड्डा को सहयोगी दलों से बात करने की जिम्मेदारी सौंपी है।

वहीं चुनाव परिणाम आने से पहले भी नीतीश कुमार ने दिल्ली दौरे के दौरान प्रधानमंत्री से उनके आवास पर मुलाकात की थी। और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर बात की थी। बीते 4 दिनों में पीएम मोदी से नीतीश कुमार की दो बार मुलाकात हो चुकी है।