ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारतेजस्वी की चुनौती पर सम्राट चौधरी का जवाब, बोले- RJD मतलब... लड़ेगा अच्छा, 2-2 लाख वोट से हारेगा

तेजस्वी की चुनौती पर सम्राट चौधरी का जवाब, बोले- RJD मतलब... लड़ेगा अच्छा, 2-2 लाख वोट से हारेगा

तेजस्वी की चुनावी चुनौती का जवाब देते हुए सम्राट चौधरी ने कहा कि राजद मतलब लड़ेगा अच्छा, लेकिन 2-2 लाख वोटों से हारेगा। डिप्टी सीएम ने कहा कि बिहार के लोगों को 10 लाख नौकरियां दी जाएंगी।

तेजस्वी की चुनौती पर सम्राट चौधरी का जवाब, बोले- RJD मतलब... लड़ेगा अच्छा, 2-2 लाख वोट से हारेगा
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,पटनाMon, 26 Feb 2024 08:44 AM
ऐप पर पढ़ें

तेजस्वी यादव के बीजेपी को अकेले दमखम पर चुनाव लड़ने की चुनौती का बिहार के डिप्टी सीएम सह बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने जवाब दिया है। उन्होने कहा कि राजद मतलब है, लड़ेगी अच्छा, लेकिन 2-2 लाख वोटों से हारेगी। उन्होने कहा कि तेजस्वी को पता होने चाहिए कि उनके माता-पिता ने बिहार पर 15 साल राज किया। अगर आज बिहार की ये दुर्दशा है, तो किसकी वजह से है। 

उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने कहा बड़ा बयान देते हुए कहा कि आने वाले दिनों में 94 लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा। और 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी दी जाएगी। भाजपा विधि प्रकोष्ठ की ओर से विद्यापति भवन में आयोजित अधिवक्ता समागम में उन्होंने कहा कि राजद नेता कह रहे हैं कि उनकी पार्टी बाप की है। उनके पिता कहते थे कि पार्टी माई की है। सही भी है, राजद माई और बाप की ही पार्टी है जबकि एनडीए के लिए माई-बाप जनता ही है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा में कल कौन किस जगह बैठेगा कोई नहीं जानता। जबकि राजद में सीएम बनाने का मौका आया तो लालू प्रसाद ने अपनी पत्नी को गद्दी पर बिठाया। इसके बाद एक पुत्र को उपमुख्यमंत्री और एक पुत्र को मंत्री तो बेटी को सांसद बनाया। बीच में कुछ दिनों के लिए चोर दरवाजे से कुछ लोग सत्ता में आ गए थे लेकिन आपकी ताकत है जो उन्हें हटना पड़ा। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि सत्ता के संघर्ष में हमें पार्टी को भी सींचना है।

उन्होंने साफ लहजे में कहा कि पहले हम लड़ रहे थे, लेकिन आज सत्ता में हैं। लेकिन अभी सपना पूरा नहीं हुआ है। भाजपा को कमिटमेंट वाली पार्टी बताते हुए उन्होंने कहा कि हमलोग समझौता करते हैं लेकिन कमिटमेंट भी पूरा करते है। 70 साल पहले जो कमिटमेंट किया गया था, जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाकर प्रधानमंत्री ने उसे पूरा किया। उन्होंने कहा कि देश को अंग्रेजों से मुक्ति दिलाने में अधिवक्ताओं का अहम योगदान रहा है। उस समय के अधिकतर नेता वकील और बैरिस्टर थे, जिन्होंने आजादी की लड़ाई में अपनी भूमिका निभाई और संविधान निर्माण में भी योगदान दिया। भाजपा शुरू से अधिवक्ताओं का सम्मान करती है और उनके मान, सम्मान, सुरक्षा पर विचार करती है। अधिवक्ताओं को भरोसा देते हुए कहा कि उनकी जायज मांगों पर विचार किया जाएगा।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें