DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  कार्यालय नहीं आने पर नहीं काटा जाए कर्मियों का वेतन: श्रम मंत्रालय
बिहार

कार्यालय नहीं आने पर नहीं काटा जाए कर्मियों का वेतन: श्रम मंत्रालय

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरोPublished By: Malay
Sat, 28 Mar 2020 08:09 AM
कार्यालय नहीं आने पर नहीं काटा जाए कर्मियों का वेतन: श्रम मंत्रालय

कोरोना वायरस के कारण स रकारी या गैर सरकारी में काम करने वाले कर्मी अगर कार्यालय नहीं आ पा रहे हैं तो उनका वेतन नहीं काटा जाए। साथ ही अगर वे छुट्टी भी लेते हैं तो उनका वेतन नहीं काटा जाए। श्रम मंत्रालय ने यह एडवाइजरी जारी कर राज्यों को सुनिश्चित करने को कहा है।

श्रम मंत्रालय के सचिव हीरालाल सामरिया की ओर से राज्यों के मुख्य सचिव को पत्र भेजा गया है। पत्र में कहा गया है कि  देश-दुनिया में अभी कोरोना वायरस का प्रकोप है। सरकार इससे निबटने के लिए प्रयास कर रही है। लेकिन इस परिस्थिति में सरकारी या प्राईवेट संस्थानों में काम करने वाले कर्मियों का कार्यालय हर रोज आना संभव नहीं है। जहां तक संभव है, संस्थानों की ओर से घरों से ही काम लिया जाए। 

कार्यालय नहीं आने पर किसी भी परिस्थिति में किसी को नौकरी से बर्खास्त या निकाला नहीं जाए। अगर वे छुट्टी पर जाते हैं तो उनका वेतन काटे बिना पूरे महीने की सैलरी दी जाए। खासकर संविदा या दिहाड़ी पर काम करने वालों को रोजगार न छीन जाए, यह सुनिश्चित किया जाए। अगर किसी को नौकरी से निकाला जाएगा तो उनके समक्ष रोजी-रोजगार का संकट हो जाएगा। कर्मचारियों के समक्ष भूखमरी का संकट होने के साथ ही उनके मनोबल पर भी विपरित असर होगा। इसलिए सरकारी-गैर सरकारी संस्थानों को इस बाबत आवश्यक निर्देश जारी किया जाए। मंत्रालय ने इस आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए राज्यों के श्रम संसाधन विभाग को जिम्मेवारी दी है।   

संबंधित खबरें