Monday, January 24, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारसदाकत आश्रम में चली कुर्सियां, BJP ने कसा तंज, RJD की लाठी पर है कांग्रेस को भरोसा

सदाकत आश्रम में चली कुर्सियां, BJP ने कसा तंज, RJD की लाठी पर है कांग्रेस को भरोसा

पटना, हिन्दुस्तान टीमMalay Ojha
Tue, 12 Jan 2021 05:39 PM
सदाकत आश्रम में चली कुर्सियां, BJP ने कसा तंज, RJD की लाठी पर है कांग्रेस को भरोसा

प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने राजधानी पटना के कांग्रेस दफ्तर (सदाकत आश्रम) में हुई मारपीट पर चुटकी ली है। उन्होंने कहा कि बिहार में कांग्रेस की खोयी प्रतिष्ठा लाने का सपना देख रहे कांग्रेस के नए प्रभारी (भक्त चरण दास) को उनके कार्यकर्ताओं ने सच्चाई से सामना करवा दिया। उनके सामने ही लात-घूंसे और कुर्सियां चला कर उन्होंने अपने प्रभारी को यह दिखा दिया कि यहां के कांग्रेसियों को गांधी की अहिंसा से ज्यादा राजद की लाठी पर भरोसा है।

प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस के नए बिहार प्रभारी यह जान लें कि हंगामा उन्हें डराने के लिए था। यह उन्हें यहां के कांग्रेसियों का सीधा संदेश है कि कांग्रेस में कोई परिवर्तन लाने का ख्याल अपने दिल से निकाल दें। वास्तव में कांग्रेस के कार्यकर्ता को राज्य में पार्टी की स्थिति का रत्ती भर भी ज्ञान नहीं है। 

यह भी पढ़ें: बिहार में नए कांग्रेस प्रभारी का ऐसा स्वागत? आपस में भिड़ गए नेता, चलीं कुर्सियां; दलालों होश में आओ के नारे

राजीव रंजन ने आगे कहा कि बिहार कांग्रेस प्रभारी को मालूम ही नहीं है कि वह जिस पार्टी की प्रतिष्ठा को पुनर्बहाल करने का दावा कर रहे हैं, प्रदेश में उसका अस्तित्व राजद की बैसाखी पर टिका हुआ है। जिस पार्टी के पास न तो जमीनी नेता बचे हों और न ही पार्टी के प्रति समर्पित कार्यकर्ता, उसे पहले अपनी बुनियाद मजबूत करने और कार्यकर्ताओं में पार्टी के प्रति वफादारी बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए।  

कांग्रेस का विद्रोह थमने वाला नहीं : नंद किशोर
वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा है कि कांग्रेस में भड़की आग शांत होनेवाली नहीं है। विद्रोह चरम पर है। गुटबाजी इतनी हावी है कि बैठक में कुर्सियां चलती है। नए प्रदेश प्रभारी खुद इस बात को स्वीकार कर रहे हैं कि बिहार में कांग्रेस का खस्ताहाल है। नंद किशोर ने कहा कि असल में, जो जैसा करता है वैसा ही पाता है। कांग्रेस नेतृत्व ने हमेशा पार्टी संभालने से अधिक लोगों को गुमराह करने पर ध्यान दिया। कभी सीएए और एनआरसी कानून पर, तो अब कृषि कानून और कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर लोगों को गुमराह करने में जुटा है। कांग्रेस के इसी दोहरे चरित्र ने उसे आमजनों की नजरों से उतार दिया है। लेकिन,  सरकार जो कहती है वह करके भी दिखाती है। 

भाजपा नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट के बीच कहा था कि जान भी बचेगी और जहान भी आबाद रहेगा। कोरोना ने विश्व के कई देशों की अर्थव्यवस्था को गड्ढे में धकेल दिया है। लेकिन, भारत की अर्थव्यवस्था प्रगति पथ पर रफ्तार के साथ आगे बढ़ते हुए 'आत्मनिर्भरता' का लक्ष्य हासिल करने वाली है। सरकार एक तरफ कोरोना टीकाकरण के लिए युद्धस्तर पर काम कर रही है। वहीं, विपक्ष के लोग कोरोना वैक्सीनेशन पर भी लोगों के बीच भ्रम फैलाने से बाज नहीं आ रहे हैं।  

epaper

संबंधित खबरें