ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारचुनाव के बाद रोहिणी आचार्य सिंगापुर रवाना, कहा- नीतीश का आशीर्वाद चाहिए, पूछिए चाचा कब आएंगे

चुनाव के बाद रोहिणी आचार्य सिंगापुर रवाना, कहा- नीतीश का आशीर्वाद चाहिए, पूछिए चाचा कब आएंगे

आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्या लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद अपने बच्चों से मिलने के लिए सिंगापुर रवाना हो गईं। इस दौरान उन्होंने सीएम नीतीश कुमार को लेकर बड़ा बयान दिया।

चुनाव के बाद रोहिणी आचार्य सिंगापुर रवाना, कहा- नीतीश का आशीर्वाद चाहिए, पूछिए चाचा कब आएंगे
Jayesh Jetawatलाइव हिन्दुस्तान,पटनाWed, 12 Jun 2024 06:07 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्या बुधवार को सिंगापुर के लिए रवाना हो गईं। सिंगापुर जाने से पहले रोहिणी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इंडिया गठबंधन यानी महागठबंधन में आने को लेकर बड़ा बयान दिया। पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि हम तो नीतीश के बाल बच्चे हैं, उनसे आशीर्वाद मांग रहे हैं। चाचा कब आशीर्वाद देने आएंगे उनसे पूछिए। रोहिणी ने कहा कि वह 10-15 दिनों के लिए अपने बच्चों से मिलने सिंगापुर जा रही हैं। वे वापस आकर सारण में रहकर जनता के लिए काम करेंगी। बता दें कि सारण लोकसभा सीट से रोहिणी आचार्या, बीजेपी के राजीव प्रताप रूडी से चुनाव हार गई थीं।

सिंगापुर रवाना होने से पहले लालू की बेटी रोहिणी आचार्या ने बुधवार को पटना एयरपोर्ट पर मीडिया से बातचीत की। नरेंद्र मोदी सरकार के गठन पर उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल बन गया लेकिन इसमें बिहार को कुछ नहीं मिला। विपक्ष यही कहता था, अब सच्चाई सामने आ गई है। जनता को तय करना है। बीजेपी ने जनता से झूठे वादे किए थे उनका क्या हुआ। जनता को टन-टन गोपाल बना दिया गया। तेजस्वी यादव ने सही कह रहे हैं बिहार को झुनझुना पकड़ा दिया गया है, पीएम मोदी सिर्फ जुमलेबाजी करते हैं।

रोहिणी आचार्या को लक्ष्मण यादव ने हराया, जानिए कैसे राजीव प्रताप रूडी सारण में जीते

छपरा में दो वकीलों की गोली मारकर हत्या करने के मामले पर रोहिणी आचार्या ने कहा कि इसका जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांगिए। बता दें कि सारण जिले के मुफस्सिल थाना इलाके में बुधवार सुबह कोर्ट जा रहे अधिवक्ता पिता-पुत्र की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्याकांड के बाद वकीलों ने रोष जताते हुए कार्य का बहिष्कार कर दिया।

कोर्ट जा रहे अधिवक्ता पिता-पुत्र की हत्या, बदमाशों ने बरसाईं अंधाधुंध गोलियां

गौरतलब है कि रोहिणी आचार्या अपने परिवार के साथ सिंगापुर में रहती हैं। लोकसभा चुनाव से पहले वह बिहार आईं और सारण से इलेक्शन लड़ा। बीजेपी के राजीव प्रताप रूडी को सारण लोकसभा सीट पर उन्होंने कड़ी टक्कर दी, मगर करीबी मुकाबले में लगभग 13 हजार वोटों से हार गईं। चुनाव हारने के बाद रोहिणी ने कहा कि वह सारण में रहकर ही जनता के काम करती रहेंगी और अगली बार जीतकर दिखाएंगी।