DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी सरकार के मंत्री: आरके सिंह ने अपने काम की बदौलत दोबारा जगह पायी

जिलाधिकारी के रूप में भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी को गिरफ्तार कर सुर्खियां बटोरने वाले आरके सिंह ने अपने काम की बदौलत नरेन्द्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के मंत्रिपरिषद में भी जगह बना ली।  

जिलाधिकारी से लेकर बिहार व केंद्र सरकार में गृह सचिव तक की जिम्मेवारी संभालने वाले भारतीय प्रशासनिक सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी राजकुमार सिंह पिछली सरकार में बिजली महकमे के मंत्री थे। सरकारी सेवा से रिटायर्ड होने के बाद 2013 में भाजपा में शामिल हुए। साल 2014 में आरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़े और मंत्रिमंडल विस्तार में 2017 में ऊर्जा एवं गैर परम्परागत ऊर्जा मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंपा गया। एक बार फिर आरा से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर संसद पहुंचे हैं। सिंह वर्ष 1975 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। 

इसके पहले वह 1974 में आईपीएस के लिए चुने गए थे। सोमनाथ से आयोध्या की रथ यात्रा पर निकले भाजपा के कद्दावर नेता लालकृष्ण आडवाणी को उन्होंने बतौर डीएम समस्तीपुर में गिरफ्तार किया था। हालांकि उस समय वह सहकारिता विभाग में पदस्थापित थे, लेकिन तत्कालीन सीएम लालू प्रसाद ने उन्हें समस्तीपुर का विशेष डीएम बनाकर श्री आडवाणी की गिरफ्तारी के लिए भेजा था। हालांकि इनकी स्वच्छ छवि का ही नतीजा रहा कि जब 1999 में अटल सरकार में आडवाणी गृह मंत्री बने तो उन्हें गृह मंत्रालय में ही संयुक्त सचिव बनाया। 

व्यक्तिगत परिचय
जन्म तिथि : 20 दिसम्बर 1952
जन्म स्थल : सुपौल, बिहार
पिता : हलधर प्रसाद सिंह
माता : चंद्रकला  देवी
पत्नी : शीला सिंह
संतान: एक पुत्र-एक पुत्री

प्रशासकीय अनुभव
1974 में आईपीएस बने, एक साल बाद छोड़ दिया
1975 में आईएएस बनकर सेवा शुरू की
1981 में पूर्वी चम्पारण के डीएम बने
1990 में आडवाणी को गिरफ्तार किया
1997-99 तक बिहार में गृह सचिव रहे
2000 से 2005 तक गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव रहे
2011 से 2013 तक गृह मंत्रालय में सचिव के पद पर रहे

राजनीतिक अनुभव
13 दिसम्बर 2013 को भाजपा की सदस्यता ग्रहण की
2014 और 2019 में आरा से भाजपा के टिकट पर सांसद चुने गए
03 सितम्बर 2017 को पहली बार केंद्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री बनाए गए

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:RK Singh has arrested Advani again made minister