DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बंगाल चुनाव में ममता की शानदार जीत पर बिहार में विपक्षी नेताओं ने जताई खुशी, जानें कौन-क्या बोले?
बिहार

बंगाल चुनाव में ममता की शानदार जीत पर बिहार में विपक्षी नेताओं ने जताई खुशी, जानें कौन-क्या बोले?

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरोPublished By: Sunil Abhimanyu
Mon, 03 May 2021 08:48 AM
बंगाल चुनाव में ममता की शानदार जीत पर बिहार में विपक्षी नेताओं ने जताई खुशी, जानें कौन-क्या बोले?

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार की वापसी और शानदार जीत पर बिहार में विपक्षी नेताओं ने खुशी जताते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी है। हाल ही में जेल से छूटे राजद सुप्रीमो लालू यादव समेत, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी, राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी और भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल समेत विभिन्न नेताओं ने जानें क्या कहा?


राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने पश्चिम बंगाल चुनावों में शानदार जीत पर तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी को बधाई दी है। लालू ने रविवार को ट्वीट कर कहा कि इस ऐतिहासिक और भारी अंतर से जीत पर ममता जी आपको हृदय से बधाई और शुभकामनाएं। हम आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं। लालू ने कहा कि मैं बंगाल के लोगों को भी बधाई देना चाहता हूं जिन्होंने पूरे दिल से दीदी को वोट दिया और भाजपा की बांटने वाले प्रोपेगंडा में नहीं फंसे। उन्होंने तमिलनाडु में जीत पर एमके स्टालिन को भी बधाई दी। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी बंगाल में ममता बनर्जी, केरल में विजयन पिनराई और तमिलनाडु में जीत पर एमके स्टालिन को बधाई दी है।


बंगाल के विश्वास और ममता बनर्जी के नेतृत्व की जीत: तेजस्वी
पश्चिम बंगाल के चुनावी नतीजों से राजद उत्साहित है। पार्टी ने वहां चुनाव पूर्व तृणमूल कांग्रेस को बिना शर्त समर्थन दिया था। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव तब ममता बनर्जी से मिले थे। उन तक राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद का संदेश पहुंचाया था। रविवार को आए चुनावी नतीजों से पार्टी में खुशी का माहौल है। तेजस्वी यादव ने टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी और बंगाल की जनता को बधाई दी है। 

तेजस्वी प्रसाद यादव ने चुनाव पूर्व ममता से मुलाकात के अपने फोटो टैग करते हुए ट्वीट किया कि पश्चिम बंगाल की ममतामयी जनता को कोटि-कोटि बधाई व हार्दिक साधुवाद। कहा कि आज जब पूरा देश कठिन परिस्थितियों से जूझ रहा है। पश्चिम बंगाल ने एक बार फिर भरोसा अपनी दीदी में ही देखा है। उन्होंने कहा कि यह जनता के स्नेह और विश्वास की जीत है और ममता बनर्जी जी के दृढ़ और कुशल नेतृत्व की जीत है। उन्होंने ट्वीट कर तमिलनाडु में एमके स्टालिन और केरला में विजयन पिनराई को भी जीत की बधाई देते हुए कहा है कि मुझे आशा कि आपके नेतृत्व में विकास का नया अध्याय लिखा जाएगा।

बंगाल ने बीजेपी का तोड़ा घमंड: कादरी
प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने ममता बनर्जी को बंगाल में बड़ी जीत की बधाई दी। साथ ही कहा है कि कोरोना की परवाह किए बिना सत्ता लोभ में कराए गए चुनाव के बाद भी प्रधानमंत्री की ये ऐतेहासिक हार है। महात्मा गांधी के देश में, सत्य की राजनीति करने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी के भरोसे को मजबूती मिली है। असत्य, अहंकार, अनीति व धनबल भारत के प्रजातांत्रिक जड़ को कमजोर नहीं कर सकते।
 
बंगाल में ममता की जीत भाजपा के लिए खतरे की घंटी: शिवानंद
राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि बंगाल में ममता बनर्जी बड़े फासले से चुनाव जीत गई हैं लेकिन स्वयं नंदीग्राम में बहुत ही कम वोटों से हार गई हैं। कहा कि भाजपा ममता बनर्जी की बंगाल की बड़ी और असाधारण जीत की चमक को धूमिल करने को बार-बार नंदीग्राम में उनकी हार की चर्चा कर रही है। दरअसल भाजपा नंदीग्राम में ममता जी की हार का शोर मचाकर नरेंद्र मोदी जी का बचाव कर रही है, क्योंकि बंगाल का चुनाव नरेंद्र मोदी बनाम ममता बनर्जी बन गया था। कहा जा सकता है कि बंगाल की हार ने मोदी जी की भविष्य की राजनीति के लिए ख़तरे की घंटी बजा दी है।
उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहीं ज्यादा साहसी महिला हैं। वे चाहती तो नंदीग्राम के साथ ही अपनी परंपरागत सीट भवानीपुर से भी चुनाव लड़ सकती थी। जैसा प्रधानमंत्री ने वर्ष 2014 में वाराणसी के साथ-साथ सेफ सीट वड़ोदरा से भी लड़कर किया था। बंगाल ने नरेंद्र मोदी ब्रांड राजनीति को ख़ारिज कर दिया है। मोदी जी को बंगाल ने संदेश दिया है कि किसी भी व्यक्ति से यह देश बहुत बड़ा है।

बंगाल सहित अन्य राज्यों ने भाजपा को जड़ा करारा तमाचा
भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि बंगाल में भाजपा की साम्प्रदायिक राजनीति को सबक सिखाने के लिए वहां की जनता बधाई की पात्र है। कहा है कि हमारी पार्टी ने वहां ‘नो वोट टू बीजेपी’ अभियान चलाया था और बंगाल की जनता ने उसे सच साबित कर दिखाया। 
माले सचिव ने कहा है कि भाजपा द्वारा खुलेआम साम्प्रदायिक प्रचार, भारी पैमाने पर पैसा, ताकत व चुनाव प्रबन्धन के जरिये चुनाव को प्रभावित करने की कोशिशों को करारा तमाचा लगा है। उन्होंने ममता बनर्जी को भी जीत पर बधाई दी है। साथ ही कहा है कि केरल में एलडीएफ की एक बार फिर से जीत लोकतांत्रिक-जनवादी ताकतों को मजबूती देगी। वहां भाजपा का खाता न खुलना दिखाता है कि केरल ने बीजेपी को पूरी तरह से नकार दिया है।

 

संबंधित खबरें