ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारअब सेना में हिंदू-मुस्लिम कर रहे, रेल मंत्री रहते लालू ने कारसेवकों को...; PM मोदी RJD चीफ को जमकर धोया

अब सेना में हिंदू-मुस्लिम कर रहे, रेल मंत्री रहते लालू ने कारसेवकों को...; PM मोदी RJD चीफ को जमकर धोया

प्रधानमंत्री ने कहा कि मां भारती की रक्षा के लिए सीने पर गोली खाकर शहीद होने वाला हर सैनिक भारतीय होता है। राजद के लोग उसे हिंदू-मुसलमान की नजर से देखते हैं। गोधरा कांड में भी इन्होंने राजनीति की।

अब सेना में हिंदू-मुस्लिम कर रहे, रेल मंत्री रहते लालू ने कारसेवकों को...; PM मोदी  RJD चीफ को जमकर धोया
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,दरभंगाSat, 04 May 2024 05:29 PM
ऐप पर पढ़ें

दरभंगा की रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब से हमने कांग्रेस और राजद के इरादों को बेनकाब किया है तब से बौखला गए हैं। यो लोग धर्म के आधार पर मुसलमानों को आरक्षण देने के लिए यादव, कुर्मी, पासवान, मुसहर, रविदास जैसे तमाम दलित-पिछड़े समाज के लोगों का आरक्षण काटना चाहते हैं। इतना ही नहीं राजद ने तो अब सेना में भी हिंदू मुसलमान करना शुरू कर दिया है। राजद ने यह गिनना आरंभ कर दिया है कि सैनिकों में कौन हिंदू है और कौन मुसलमान। यही इनका असली चेहरा है। ये लोग समाज को बांटने के लिए और देश की एकता तोड़ने के लिए कुछ भी कर सकते हैं। उन्होंने लालू यादव पर गोधरा में जिंदा जलाकर मारे गए कारसेवकों को दोषी करार देने की साजिश रचने का भी आरोप लगाया। दरअसल शनिवार को तेजस्वी यादव ने एक ट्वीट में कहा कि तीनों सेना के प्रमुख भी हिंदू ही हैं।


प्रधानमंत्री ने कहा कि मां भारती की रक्षा के लिए सीने पर गोली खाकर शहीद होने वाला हर सैनिक भारतीय होता है। लेकिन राजद के लोग उसे हिंदू-मुसलमान की नजर से देखते हैं। सेना में हिंदू मुसलमान का बटवारा करने वालों को पूछना चाहता हूं कि क्या अब्दुल हमीद को हम इसलिए याद करते हैं कि वह एक मुसलमान थे। ये ऐसे लोग हैं जिन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाया और एयर स्ट्राइक पर संदेह जताया । यह लोग आर्मी के को गाली भी देते हैं। यह काम अपने एक खास वोट बैंक को तुष्टीकरण के तहत खुश करने के लिए करते हैं। लेकिन, जनता सब कुछ जानती है और देश यह सब देख रहा है। 

पीएम ने कहा कि राजद का इतिहास ही ऐसा है कि सामाजिक न्याय का मुखौटा लगाकर हमेशा तुष्टिकरण की राजनीति करें। जब गोधरा में कारसेवकों को जिंदा जलाया गया था तब रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव थे। उन्होंने दोषियों को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के एक जज की कमेटी बनाई। उस समय कांग्रेस की सरकार थी और सोनिया मैडम का राज था। कमेटी से इन लोगों ने ऐसा रिपोर्ट लिखवाया की कारसेवकों को जलाने वाले निर्दोष छूट जाएं। लेकिन अदालत ने उनकी रिपोर्ट को मानने से  इनकार कर दिया और उन सब को सजा सुनाई गई जिन्होंने कारसेवकों को जिंदा जला दिया था। दुनिया का पता था कि कार्ड सेवकों को जिंदा जलाया गया था लेकिन फर्जी रिपोर्ट बनवाकर कर सेवकों पर ही मढ़ने की साजिश रची गई थी। इन लोगों का यही इतिहास है इसलिए आज यह तय करना है कि हमें बिहार को फिर से लालटेन के दौर में नहीं जाने देना है।