ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारतेजस्वी यादव के कारण ही 4 लाख लोगों को नौकरी मिली; नीतीश के आरोपों पर आरजेडी का पलटवार

तेजस्वी यादव के कारण ही 4 लाख लोगों को नौकरी मिली; नीतीश के आरोपों पर आरजेडी का पलटवार

आरजेडी ने कहा कि तेजस्वी यादव के कारण ही बिहार में 4 लाख लोगों को नौकरियां मिलीं। महागठबंधन सरकार बनने से पहले तेजस्वी ने रोजगार और नौकरी को लेकर नीतीश के सामने शर्त रखी थी।

तेजस्वी यादव के कारण ही 4 लाख लोगों को नौकरी मिली; नीतीश के आरोपों पर आरजेडी का पलटवार
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाThu, 01 Feb 2024 07:14 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में सत्ता परिवर्तन के बाद आरजेडी और जेडीयू में सियासी घमासान छिड़ा हुआ है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव समेत आरजेडी नेताओं पर काम का श्रेय लेने का आरोप लगाया। अब आरजेडी ने इस पर पलटवार किया है। आरजेडी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि तेजस्वी यादव के कारण ही बिहार में 4 लाख लोगों को नौकरी मिली। उनका विजन नौकरी और रोजगार था। तेजस्वी यादव के स्वास्थ्य विभाग ने 1.35 लाख नौकरी देने की प्रक्रिया पूरी कर ली थी, जिसे दो महीने में पूरा किया जाए।

आरजेडी नेता मनोज झा ने बुधवार को कहा कि पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव के खिलाफ राजनीतिक लड़ाई लड़ें लेकिन रोजगार और नौकरी को बाधित न करें। महागठबंधन की सरकार बनने से पहले तेजस्वी की शर्त थी कि बिहार में नौकरी एवं रोजगार के संकल्प को पूरा करना है। उन्होंने एक लाख और शिक्षकों की नियुक्ति को 30 से 40 दिनों में तथा गृह विभाग, सहकारिता विभाग सहित अन्य विभागों के लिए चिह्नित रिक्तियों को ससमय भरने की मांग की। 

उन्होंने कहा कि आशा और ममता के मानदेय बढ़ाने का प्रस्ताव कैबिनेट बैठक में रोक दिया गया जबकि स्वास्थ्य मंत्री के रूप में तेजस्वी यादव ने इस पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। उन्होंने केंद्र से आरक्षण के बढ़ाए दायरे को संविधान की 9वीं अनुसूची में शामिल करने की भी मांग की। 

तेजस्वी बच्चा है, उसको क्या पता है, हमारे काम का क्रेडिट ले रही आरजेडी : नीतीश कुमार

जो काम 17 सालों में नहीं हुआ वो 17 महीने में हुआ वह 17 महीने में हुआ : आरजेडी
मनोज झा ने दावा किया कि तेजस्वी यादव के संकल्प के अनुसार जो काम 17 सालों में एनडीए की सरकार ने नहीं किया उसे 17 महीने में पूरा किया गया। उन्होंने स्टेडियम निर्माण, अस्पताल भवन निर्माण सहित अन्य कार्यो को भी पूरा करने की मांग की। वहीं, तंज कसा कि सरकारें विकास और गरीबों के चेहरे पर मुस्कान के लिए बनती हैं न कि मंदिर-मस्जिद और गुरुद्वारा निर्माण के लिए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें