DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारबिहार पॉलिटिक्स: लालू प्रसाद शाम पांच बजे की फ्लाइट से पटना के लिए होंगे रवाना

बिहार पॉलिटिक्स: लालू प्रसाद शाम पांच बजे की फ्लाइट से पटना के लिए होंगे रवाना

लाइव हिन्दुस्तान,पटनाSudhir Kumar
Sun, 24 Oct 2021 12:59 PM
बिहार पॉलिटिक्स: लालू प्रसाद शाम पांच बजे की फ्लाइट से पटना के लिए होंगे रवाना

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव अपनी पत्नी राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती के साथ दिल्ली से शाम पांच बजे की फ्लाइट से पटना के लिए रवाना होंगे। लगभग तीन साल के लंबे समय के बाद लालू यादव आज पटना आ रहे हैं। जेल से निकलने के बाद वे लगातार दिल्ली में अपनी बेटी मीसा भारती के आवास पर रह रहे थे। लालू यादव के पटना आगमन से राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ताओं और नेताओं में जबरदस्त उत्साह की लहर है।

लालू प्रसाद के पटना आगमन पर पटना स्थित आरजेडी के मुख्यालय को अलग लुक दिया जा रहा है। सोमवार को लालू यादव पार्टी कार्यालय जा सकते हैं। लालू के आगमन को खास बनाने के लिए छे टन का लालटेन पार्टी के कार्यालय में स्थापित किया जा रहा है। यह लालटेन राजस्थान में तैयार कराया गयाहै। इसे गैस से जलाने का सिस्टम तैयार किया गया है। गैस पाइपलाइन के जरिय इसे गैस मिलेगा और इसकी लौ हमेशा जलती रहेगी। राजद का चुनाव चिन्ह लालटेन छाप है। इसलिए पार्टी के प्रदेश कार्यालय में लालटेन लगाकर लोगों को आरजेडी की धमक का एहसास कराने के प्रयास के रूप में इसे देखा जा रहा है। 

2017 के बाद लालू प्रसाद यादव पहली बार पटना आ रहे हैं। 23 दिसम्बर 2017 को लालू प्रसाद यादव पटना से निकले थे। चारा घोटाल के कई केस में फंसे लालू यादव को कोर्ट ने सजा सुना दी और वे कई साल जेल में रहे। बाद चारा घोटाले में उन्हें जमानत मिली। जमानत मिलने के बाद लालू प्रसाद 30 अप्रैल 2021 को जेल से बाहर निकले थे।  बेल मिलने के बाद भी वे बिहार नही आए क्योंकि उनकी तबीयत बहुत खराब थी। उन्हें बिहार लानने की बजाय दिल्ली ले जाया गया। वे लगातार दिल्ली में ही रह रहे थे। दिल्ली में लालू यादव बड़ी बेटी मीसा भारती आवास पर रह रहे थे। वहीं उनका इलाज भी चल रहा था।
 
विधानसभा की दो सीटों पर हो रहे उपचुनाव के बीच लालू यादव का बिहार आना एक बड़ा पॉलिटिकल डेवलपमेंट है। राजद ने कुशेश्वर स्थान और तारापुर दोनो सीटों पर अपने उम्मीवार उतारे हैं। इन सीटों पर एनडीए के साथ साथ कांग्रेस पार्टी से भी राजद को चुनौति मिल रही है क्योंकि दोनो पार्टियां महागठबंधन से अलग हो गयी हैं। ऐसे में लालू का बिहार आगमन चुनाव के परिणाम पर प्रभाव डालने वाला बताया जा रहा है।
 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें