ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारजदयू कार्यालय में राजद का बैनर, राम-कृष्ण से नीतीश कुमार की तुलना; लिखा- 2024 में विजयी भव:

जदयू कार्यालय में राजद का बैनर, राम-कृष्ण से नीतीश कुमार की तुलना; लिखा- 2024 में विजयी भव:

छपरा में जदयू के कार्यालय पर राजद का बैनर लगा है था। जिसमेंनीतीश कुमार के 2024 के लोकसभा चुनाव में विजयी होने का संदेश दिया गया। साथ ही नीतीश कुमार की तुलना राम और कृष्ण से की गई है।

जदयू कार्यालय में राजद का बैनर, राम-कृष्ण से नीतीश कुमार की तुलना; लिखा- 2024 में विजयी भव:
Sandeepहिन्दुस्तान,छपराSat, 14 Jan 2023 02:43 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

2024 की चुनावी जंग जैसे-जैसे करीब आ रही है। वैसे-वैसे सियासी दलों की बयानबाजी के साथ-साथ बैनर-पोस्टर से भी सियासी संदेश दिए जा रहे है। ऐसा ही दिखा छपरा में जदयू के कार्यालय पर जहां बैनर तो राजद का लगा है। लेकिन नीतीश कुमार के 2024 के लोकसभा चुनाव में विजयी होने का संदेश दिया गया।

नीतीश कुमार विजयी भव: का संदेश

ये बैनर राष्ट्रीय जनता दल महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश महासचिव पूनम राय ने लगाया है। जिसमें नीतीश कुमार की तुलना भगवान राम और श्रीकृष्ण से की गई है। साथ ही 2024 में नीतीश कुमार के विजय भव: होने की कामना की गई है। 

नीतीश कुमार की राम-कृष्ण से तुलना 

तीन फोटो के जरिए दिखाया गया है कि रामायण में श्रीराम ने रावण को पराजित किया था महाभारत में श्रीकृष्ण ने कंस को हराया था और अब 2024 में नीतीश कुमार नरेंद्र मोदी को परास्त करेंगे। साथ ही बैनर के जरिए संदेश दिया गया है कि जब किसी खास अक्षर या राशि से शुरू होने वाले नाम वाला व्यक्ति अत्यधिक शक्तिशाली हो जाता है, और दंभी, अहंकारी, तानाशाह होकर अपने शक्तियों का दुरूपयोग करने लगता है, जिससे जन मानस में हाहाकार और त्राहिमाम मच जाता है। तब उस को उसी अक्षर या राशि से शुरू होने वाले नाम के व्यक्ति से हराया या पराजित किया जा सकता है। इसलिए 2024 में नरेंद्र मोदी के मुकाबले नीतीश कुमार 'न' अक्षर विजयी भव:।

आपको बता दें बिहार में महागठबंधन की सरकार सत्ता पर काबिज है। 7 दलों वाले इस गठबंधन का हाथ में ही बिहार की बागडोर है। आरजेडी और जेडीयू नीतीश कुमार को 2024 में विपक्ष का नेता और पीएम कैडिटेड मान चुकी है। हालांकि नीतीश ने कुमार खुद को पीएम उम्मीदवार बताने से मना कर चुके है। उन्होने कहा था कि इसका फैसला विपक्ष दलों की बैठक और आपसी बातचीत से किया जाएगा। ऐसे में जदयू कार्यालय पर लगा राजद का ये पोस्टर कई सियासी संदेश रहा है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें