ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारपीएम मोदी और धर्मेंद्र प्रधान पेपर लीक के दोषी, नीट रद्द करे सरकार; आरजेडी के मनोज झा का हमला

पीएम मोदी और धर्मेंद्र प्रधान पेपर लीक के दोषी, नीट रद्द करे सरकार; आरजेडी के मनोज झा का हमला

आरजेडी सांसद मनोज झा ने कहा कि केंद्र सरकार को नीट यूजी परीक्षा रद्द करनी चाहिए और पेपर लीक के दोषियों को बेनकाब करना चाहिए। पीएम मोदी और शिक्षा मंत्री इस पर चुप्पी साधे हुए हैं, वे भी दोषी हैं।

पीएम मोदी और धर्मेंद्र प्रधान पेपर लीक के दोषी, नीट रद्द करे सरकार; आरजेडी के मनोज झा का हमला
rjd manoj jha on neet paper leak
Jayesh Jetawatलाइव हिन्दुस्तान,पटनाSat, 22 Jun 2024 03:49 PM
ऐप पर पढ़ें

नीट पेपर लीक मामले में सियासी पारा गर्माया हुआ है। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान इस मामले में दोषी हैं। ये लोग नौटंकी क्यों कर रहे हैं। उनकी चुप्पी आपराधिक है। नेट का एग्जाम कैंसल करना पड़ा। मगर नीट परीक्षा में गेस्ट हाउस की आधारहीन स्टोरी बना रहे हैं। कार्यशैली में गंभीरता नहीं है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि नीट परीक्षा को तुरंत रद्द करके सभी अपराधियों को बेनकाब करना चाहिए। एनटीए नाम की संस्था जो टेस्टिंग के सिवाय सबकुछ कर रही है, उसे उठाकर बाहर फेंकना चाहिए।

मनोज झा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत में बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा के आरोपों को आधारहीन बताया। उन्होंने कहा कि सिन्हा के पास बोलने के लिए कुछ बचा नहीं है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। बिहार में बीजेपी के लोग चुप हैं। हमने भी कई तस्वीरें जारी कीं, उस पर कोई नहीं बोल रहा है। नीट में बहुत बड़ा घपला हुआ है। आने वाले समय में सारा सच सामने आ जाएगा।

आरजेडी नेता झा ने नीट पेपर लीक के आरोपी अमित आनंद के साथ सम्राट चौधरी तस्वीर वायरल होने पर कहा कि जांच एजेंसी को इसकी तहकीकात देनी चाहिए। सिकंदर यादवेंदु के मुद्दे पर कहा कि उस व्यक्ति को किस जगह पदस्थापन किसने दिया इसकी भी जांच होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि आरजेडी सिर्फ विपक्ष की भूमिका निभा रही है। 

कौन है संजीव मुखिया जिसके सबसे पहले पहुंचा था नीट का पेपर

वहीं, आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि नीट पेपर लीक मामले पर तेजस्वी यादव ने खुली चुनौती दे दी है। सरकार आरोप-प्रत्यारोप लगाकर अपनी नाकामी छिपाने की कोशिश ना करे। पूरे सिस्टम में जो लीक है, पहले उसका जवाब देना चाहिए। बिहार, हरियाणा से लेकर केंद्र में बीजेपी और एनडीए की सरकार है। फिर भी प्रश्न पत्र लीक हो रहे हैं। तेजस्वी यादव के पीएस प्रीतम कुमार का नाम लेकर वे छिप नहीं सकते हैं। नीट पेपर लीक का आरोपी बीजेपी नेताओं के साथ क्या कर रहा था, पहले इसका जवाब देना चाहिए।