ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारगुजराती ठग वाले बयान पर तेजस्वी को सुप्रीम कोर्ट से राहत, SC ने अहमदाबाद कोर्ट की सुनवाई पर लगाई रोक

गुजराती ठग वाले बयान पर तेजस्वी को सुप्रीम कोर्ट से राहत, SC ने अहमदाबाद कोर्ट की सुनवाई पर लगाई रोक

गुजराजी ठग वाले बयान को लेकर तेजस्वी यादव को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली है। सु्प्रीम कोर्ट ने तेजस्वी यादव की याचिका पर सुनवाई करते हुए मामले की अहमदाबाद कोर्ट में सुनवाई पर रोक लगा दी है।

गुजराती ठग वाले बयान पर तेजस्वी को सुप्रीम कोर्ट से राहत, SC ने अहमदाबाद कोर्ट की सुनवाई पर लगाई रोक
Malay Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,पटनाMon, 06 Nov 2023 02:56 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव को कथित रूप से 'सारे गुजराती ठग है' वाले बयान पर सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सूत्रों के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ने  सोमवार को तेजस्वी प्रसाद यादव की याचिका पर सुनवाई करते हुए इस मामले की अहमदाबाद कोर्ट में सुनवाई पर रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद तेजस्वी को निचली अदालत में पेशी से छूट मिल गई है।  इस मामले की सुनवाई 4 नवंबर को अहमदाबाद कोर्ट में हुई थी। वहां तेजस्वी यादव के वकील ने कोर्ट को बताया कि उन्होंने अपने खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले को ट्रांसफर करने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। इसी याचिका पर सोमवार को सुनवाई होनी है। गौरतलब है कि 22 सितंबर को मेट्रोपोलिटन कोर्ट में सुनवाई के लिए तेजस्वी प्रसाद यादव को बुलाया गया था। 

तेजस्वी यादव पर मार्च 2023 में मीडिया से बातचीत में गुजरातियों को लेकर कथित बयान देने का आरोप है। उन्होंने कहा था कि बैंकों का पैसा कर्ज लेकर भागने वालों का कर्ज माफ कर दिया जा रहा है। गुजरात के एक कारोबारी और सामाजिक कार्यकर्ता हरेश मेहता ने इसी बयान पर आपत्ति जताया और अहमदाबाद के स्थानीय मेट्रोपॉलिटन कोर्ट में आपराधिक मुकदमा दाखिल कर  दिया।  इस मुकदमा में याचिकाकर्ता ने तेजस्वी के बयान को गुजरातियों की भवनाओं को आहत करने वाला बताया। 

वहीं, तेजस्वी यादव ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा कि वह एक कानून का पालन करने वाले नागरिक और बिहार के उपमुख्यमंत्री हैं। आमतौर पर पटना में अपने आधिकारिक पते पर रहते हैं। लिहाजा, वे अपनी जिम्मेदारियों के कारण इस अदालत के समक्ष आगे की कार्यवाही में शामिल नहीं हो सकते हैं। जिसमें आम जनता के कल्याण के लिए महत्वपूर्ण परियोजनाओं की देखरेख शामिल है। जो आगामी धार्मिक उत्सवों के मद्देनजर आवश्यक है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें