DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारनवादा में कोचिंग से लौट रही छात्रा के साथ रेप, लड़की के चिल्लाने पर ग्रामीणों ने आरोपी को दौड़ाकर पकड़ा, जमकर की पिटाई

नवादा में कोचिंग से लौट रही छात्रा के साथ रेप, लड़की के चिल्लाने पर ग्रामीणों ने आरोपी को दौड़ाकर पकड़ा, जमकर की पिटाई

नवादा हिन्दुस्तान टीमMalay Ojha
Sat, 23 Oct 2021 08:23 PM
नवादा में कोचिंग से लौट रही छात्रा के साथ रेप, लड़की के चिल्लाने पर ग्रामीणों ने आरोपी को दौड़ाकर पकड़ा, जमकर की पिटाई

नवादा में कोचिंग से पढ़कर लौट रही 14 वर्षीय नौवीं कक्षा की छात्रा के साथ युवक ने दिनदहाड़े दुष्कर्म किया। घटना शनिवार की सुबह करीब 10 बजे जिले के कादिरगंज ओपी क्षेत्र की बतायी जाती है। छात्रा के चिल्लाने पर भाग रहे युवक को ग्रामीणों ने खदेड़कर पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई करने के बाद उसे कादिरगंज ओपी की पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपित युवक की पहचान कादिरगंज ओपी के देवनपुरा गांव के बलजीत सिंह के बेटे सचिन कुमार के रूप में की गयी है। घटना की सूचना पर नवादा की एसपी सायली सावलाराम डी तत्काल कादिरगंज पहुंची और सदर एसडीपीओ उपेन्द्र कुमार के साथ घटनास्थल का जायजा लिया। पीड़िता व उसके परिजनों से पूछताछ कर उन्हें उचित कार्रवाई का भरोसा दिया। एसपी ने मौके पर रहे टाउन सर्किल इंस्पेक्टर नेयाज अहमद, कादिरगंज एसएचओ सूरज कुमार और महिला थाना की एसएचओ निर्मला भारती को घटना से संबंधित त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिये। 

पॉक्सो व दुष्कर्म के तहत मामला दर्ज

इस मामले में पीड़िता के बयान पर शनिवार को कादिरगंज ओपी/नगर थाने में मामला दर्ज कराया गया है। मामले में पोक्सो (प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेज) और दुष्कर्म (आईपीसी की धारा 376) समेत अन्य धाराओं के तहत आरोप लगाये गये हैं। महिला थाना की एसएचओ निर्मला भारती को मामले का अनुसंधानकर्ता बनाया गया है। 

पीड़िता की हुई मेडिकल जांच

पीड़िता को पुलिस अभिरक्षा में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसका वहां इलाज किया गया। इसके बाद सिविल सर्जन के आदेश पर सदर अस्पताल के डॉक्टरों की गठित मेडिकल बोर्ड द्वारा पीड़िता की मेडिकल जांच की गयी। मेडिकल जांच के बाद पीड़िता का कोर्ट में मजिस्ट्रेट के समक्ष 164 का बयान कराया जाएगा। बयान के अनुसार मामले में अग्रेतर कार्रवाई जाएगी। वहीं पुलिस आरोपित को जेल भेजने की तैयारी में जुटी थी। पुलिस के मुताबिक 19 वर्षीय आरोपित मैट्रिक पास बताया जाता है। मैट्रिक करने के बाद उसने पढ़ाई छोड़ दी थी। 

ननिहाल में रहकर पढ़ रही थी छात्रा

पीड़िता कादिरगंज ओपी क्षेत्र में स्थित अपने ननिहाल में रहकर पढ़ाई कर रही थी। वह मूलत: कौआकोल थाना क्षेत्र की रहने वाली बतायी जाती है। परंतु बताया जाता है कि वह बचपन से ही अपने नाना के घर पर रह रही थी। घटना के वक्त वह कादिरगंज बाजार में स्थित एक कोचिंग सेंटर से क्लास कर रोज की तरह पैदल अपने घर लौट रही थी। इसी बीच घोसतावां नदी किनारे पूर्व से घात लगाये बैठे आरोपित ने उसे दबोच लिया। उसका मुंह बंद उसे खेत में ले जाकर घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद भाग रहे आरोपित को ग्रामीणों ने लड़की चीख सुनकर पकड़ लिया।

पहले भी दर्ज है छेड़खानी का मामला

इससे पूर्व भी कादिरगंज ओपी में स्कूली छात्राओं के साथ छेड़खानी करने का एक मामला दर्ज कराया गया था। इसे लेकर लड़कों के दो गुटों के बीच मारपीट हुई थी। मामला घोसतावां गांव से जुड़ा बताया गया था। एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर रास्ते से गुजरने वाली स्कूली छात्राओं के साथ छेड़खानी का विरोध करने पर मारपीट का आरोप लगाया था। हालांकि जांच में मामला कुछ और ही पाया गया। पुलिस के मुताबिक घटना दो गुटों के बीच आपसी वर्चस्व से जुड़ा था। 

रेप मामले में क्विक एक्शन लेती हैं एसपी

एसपी सायली दुष्कर्म के मामले में त्वरित कार्रवाई करती हैं। खासकर नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में आरोपित की गिरफ्तारी के बाद आरोप पत्र समर्पित करने और स्पीडी ट्रायल चलवा कर उसे सजा दिलवाने तक एसपी मामले पर नजर रखती हैं। ऐसा ही एक मामला अररिया जिले में आया था, जहां नवादा आने से पूर्व एसपी पदस्थापित थीं। 2019 में एसपी सायली के कार्यकाल में अररिया के सिमराहा थाने में 13 वर्षीया नाबालिग की गैंगरेप के बाद हत्या एक मामला दर्ज कराया गया था। एसपी द्वारा एसआईटी का गठन कर सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया और आरोप पत्र समर्पित कर स्पीडी ट्रायल चलवाया गया। पिछले माह मुख्य आरोपित को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें