DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बिहार में आफत की बारिश! बांका-जहानाबाद में डायवर्सन बहे, केसरिया में पुल ध्वस्त, 10 लाख लोगों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूटा
बिहार

बिहार में आफत की बारिश! बांका-जहानाबाद में डायवर्सन बहे, केसरिया में पुल ध्वस्त, 10 लाख लोगों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूटा

पटना, हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Sat, 31 Jul 2021 11:09 PM
बिहार में आफत की बारिश! बांका-जहानाबाद में डायवर्सन बहे, केसरिया में पुल ध्वस्त, 10 लाख लोगों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूटा

बिहार में लगातार बारिश और नेपाल बराज से पानी डिस्चार्ज होने से बाढ़ की स्थिति गंभीर होती जा रही है। कई नदियों में उफान से कई जगहों पर तटबंधों पर भारी दबाव  बना है। कई जगहों पर पुल-पुलिया व डायवर्सन टूटने से आवागमन  ठप हो गया और कई इलाकों में पानी फैल गया है। बांका में चांदन नदी पर बना डायवर्सन शनिवार को नदी में बह गया तो जहानाबाद के घोसी में डायवर्जन बहने से नालंदा से जहानाबाद का सीधा संपर्क भंग हो गया है। वहीं केसरिया के ढेकहा में बाढ़ के पानी से पुल ध्वस्त हो गया है। 

पूर्वी चम्पारण के केसरिया प्रखंड के ढेकहा गांव के पास बना पुल शुक्रवार की देर रात बाढ़ के पानी के दबाव से ध्वस्त हो गया। पुल का कुछ हिस्सा बाढ़ के पानी के साथ बह गया है। इससे ढेकहा गांव में आने-जाने का रास्ता बंद हो गया है। फिलहाल ग्रामीण नाव की मदद से आवागमन कर रहे हैं। ढेकहा गांव गंडक नदी के किनारे बसा है। इस इलाके के लोग पिछले दो माह से बाढ़ का कहर झेल रहे हैं। करीब दो माह पहले मझरिया गांव के पास बना पुल भी बाढ़ के पानी के दबाव के कारण ध्वस्त हो गया था, जिसको अबतक दुरुस्त नहीं किया जा सका है।  बताया जाता है की ढेकहा वार्ड नंबर 9,10 व 11 जाने के लिए यह मुख्य सड़क है। इसी पर यह पुल अवस्थित था।

बांका में चांदन नदी पर आवाजाही को लेकर बना डायवर्सन शनिवार को नदी में बह गया। 2.75 किमी के डायवर्जन का करीब 500 मीटर का हिस्सा नदी में समा गया। जबकि नदी के पानी का तेज बहाव धीरे-धीरे आगे भी ध्वस्त करता जा रहा है। इससे एक ओर जहां बांका दो भागों में बंट गया, वहीं दूसरी ओर आवागमन बाधित हो गई। बांका-ढाकामोड़ होते हुए झारखंड से संपर्क टूट गया। साथ ही बांका समेत चार प्रखंडों के करीब 10 लाख से अधिक लोगों का संपर्क जिला मुख्यालय से टूट गया है। मालूम हो कि तीन दिनों से हो रही बारिश से नदी का जलस्तर बढ़ गया है।  50 करोड़ से चांदन नदी पर पुल व डायवर्जन का निर्माण कराया जाना है। तत्कालीन तौर पर बने डायवर्सन को ही उपयोग में लाने की मंशा से डायवर्जन का कटाव कर ह्यूम पाइप बिछाने का कार्य किया जा रहा था। 

फल्गू में उफान, एनएच 110 पर वाहनों का परिचालन बंद

घोसी प्रखंड के शरमा गांव के समीप शनिवार की सुबह ही डायवर्सन फल्गू नदी की धार में बह गया। इसके कारण राजगीर और इस्लामपुर से जहानाबाद का सीधा संपर्क भंग हो गया है। फल्गू उफान पर है। इसके कारण नालंदा से जहानाबाद का सीधा संपर्क भंग हो गया है। एनएच 110 पर वाहनों का परिचालन बंद हो गया है। जहानाबाद से बिहारशरीफ जाने वाली यात्रियों को अब हुलासगंज सुकियावां रोड का सहारा लेना पड़ रहा है। ऐसे में तेल्हाड़ा, एकंगरसराय, परबलपुर, हिलसा और बिहारशरीफ जाने वाले यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है। वहीं राजगीर और इस्लामपुर जाने वाले यात्रियों को भी लंबी दूरी तय करनी पड़ रही है। बताया जाता है कि शनिवार की अपराह्न तीन बजे मोदनगंज प्रखंड के झुनकी बाजार स्थित एनएच 110 पर बने पुलिया पर फल्गू का पानी आ गया है। करीब पुलिया से ऊपर चार फीट से अधिक पानी बह रहा है।

 

संबंधित खबरें