ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारPurvi Champaran Results 2024 : पूर्वी चंपारण में राधा मोहन सिंह की सातवीं जीत, राजेश कुमार को 88 हजार से हराया

Purvi Champaran Results 2024 : पूर्वी चंपारण में राधा मोहन सिंह की सातवीं जीत, राजेश कुमार को 88 हजार से हराया

Purvi Champaran Results 2024: पूर्वी चंपारण सीट पर बीजेपी के राधा मोहन सिंह ने फिर से जीत दर्ज किया है। यह उनकी सातवीं जीत है। 1989 से लगातार एक पार्टी बीजेपी से इस सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

Purvi Champaran Results 2024 : पूर्वी चंपारण में राधा मोहन सिंह की सातवीं जीत, राजेश कुमार को 88 हजार से हराया
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,मोतिहारीWed, 05 Jun 2024 12:26 AM
ऐप पर पढ़ें

Purvi Champaran Results 2024:  पूर्वी चंपारण लोकसभा सीट पर बीजेपी के राधा मोहन सिंह ने सातवीं बार जीत दर्ज की। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी महागठबंधन  के वीआईपी कैंडिडेट राजेश कुमार को 88 हजार से ज्यादा मतों से हराया। राधा मोहन सिंह इस सीट पर  1989 से लगातार बीजेपी से चुनाव लड़ते आ रहे हैं। 2019 में उन्हें नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में कृषि मंत्री भी बनाया गया था। राधा मोहन सिंह को कुल मिलाकर 5,42,193 वोट मिले जबकि वीआईपी के डॉ राजेश कुमार को मतदाताओं ने 4,53,906 वोट दिया। पूर्वी चंपारण में कुल 12 कैंडिडेट मैदान में हैं। पूर्वी चंपारण में छठे चरण के तहत 25 में को वोटिंग हुई थी।  

18.20 PM-  पूर्वी चंपारण में बीजेपी के राधामोहन सिंह जीत की ओर बढ़ चले हैं। उन्होंने वीआईपी के राजेश कुमार को  81014 मतों से पीछे कर दिया है।

13.46 PM- पूर्वी चंपारण में राधा मोहन सिंह 35869 वोटों के अंतर से वीआईपी के राजेश कुमार से आगे चल रहे हैं।

11.00AM- पूर्वी चंपारण में राधा मोहन सिंह को राजेश कुमार पर 11569 वोटों की बढ़त

10.29AM- पूर्वी चंपारण में राधा मोहन सिंह 4049 वोटों से आगे, राजेश कुमार दूसरे स्थान पर

पूर्वी चंपारण से एनडीए ने भाजपा के दिग्गज राधा मोहन सिंह को मैदान में उतारा है। इंडिया गठबंधन में यह सीट वीआईपी के खाते में गई तो मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी से डॉ राजेश कुमार चुनाव लड़ रहे हैं। वह राजद के टिकट से 2015 में केसरिया के विधायक बने। 2020 में राजद ने उनका टिकट काट दिया तो निर्दलीय चुनाव लड़ गए।  लोकसभा के लिए पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। वैसे तो पूर्वी चंपारण लोकसभा सीट का गठन 1952 में हुआ लेकिन 2008 तक इसका नाम मोतिहारी था। परिसीमन के तहत 2008 में पूर्वी चंपारण लोकसभा अस्तित्व में आया।न उसके बाद से राधा मोहन सिंह लगातार यहां के सांसद हैं। 

शुरुआती दिनों में यहां कांग्रेस पार्टी का राज रहा। 1977 में जनता पार्टी और 1980 में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया की जीत हुई। लेकिन 1984 में कांग्रेस ने फिर से यहां जीत हासिल कर ली। 1989 में राधा मोहन सिंह ने भारतीय जनता पार्टी का खाता खोला। मोतिहारी लोकसभा के रूप में राजद ने 1998 में यहां चुनाव जीता था। तब पार्टी की उम्मीदवार रामा देवी थीं। 

पूर्वी चंपारण लोकसभा में छह विधानसभा क्षेत्र हैं। इनमें से एक पर राजद एक पर जेडीयू और चार विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी का कब्जा है। पूर्वी चंपारण में हरसिद्धि सुरक्षित, गोविंदगंज, केसरिया, कल्याणपुर, पिपरा और मोतिहारी विधानसभा शामिल हैं। केसरिया से जदयू की शालिनी मिश्रा विधायक हैं वहीं कल्याणपुर में राजद के मनोज कुमार एमएलए हैं।

साल 2019 के चुनाव के परिणामों की बात करें तो राधा मोहन सिंह ने 5 लाख 74 हजार मत प्राप्त किया। वहीं उनके निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के आकाश प्रसाद सिंह ने 2 लाख 81 हजार 500 वोट हासिल किया। आकाश प्रसाद सिंह कांग्रेस के बिहार प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह के बेटे हैं। साल 2014 के चुनाव में राधा मोहन सिंह ने राजद के उम्मीदवार विनोद कुमार श्रीवास्तव को 2 लाख मतों से पराजित किया था। इस बार राधा मोहन सिंह सातवीं बार जीत दर्ज करने के लिए मैदान में हैं।