DA Image
Monday, December 6, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहाररिंटू सिंह हत्याकांड: नीतीश सरकार में मंत्री लेशी सिंह की सफाई, छवि धूमिल करने के लिए मुकदमा में घसीटा गया नाम

रिंटू सिंह हत्याकांड: नीतीश सरकार में मंत्री लेशी सिंह की सफाई, छवि धूमिल करने के लिए मुकदमा में घसीटा गया नाम

पूर्णिया। वरीय संवाददाताMalay Ojha
Sun, 14 Nov 2021 08:49 PM
रिंटू सिंह हत्याकांड: नीतीश सरकार में मंत्री लेशी सिंह की सफाई, छवि धूमिल करने के लिए मुकदमा में घसीटा गया नाम

बिहार सरकार में खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की मंत्री लेशी सिंह की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सरसी के रिंटू सिंह हत्याकांड में मेरा नाम घसीट छवि और प्रतिष्ठा को धूमिल किया जा रहा है। 

मंत्री ने कहा कि मृतक की पत्नी द्वारा सरसी थाना में दर्ज प्राथमिकी में बताया गया है कि रिन्टू सिंह की हत्या की साजिश लेशी सिंह की राजनीतिक रंजिश है, क्योंकि रिन्टू सिंह आगामी विधानसभा चुनाव का संभावित उम्मीदवार था। जो अपने आप में दर्शाता है कि मुकदमा में मेरा नाम घसीटने के लिए आरोपी बनाया गया है, जबकि विधानसभा चुनाव में चार वर्ष का समय है। कौन उम्मीदवार होगा,  ये किसी को भी पता नहीं है। विपक्षियों की साजिश है कि लेशी सिंह की लोकप्रियता को कम किया जाय। उन्हें मुकदमे में उलझाकर जनसेवा व गरीबों की मदद करने से दूर किया जाय। मंत्री ने कहा कि मेरा गांव की राजनीति से कोई लेना देना नहीं है। 21-22  वर्षों से गांव से दूर पूर्णियां में रहती हैं। गांव में मामूली आना-जाना रहता है।

तेजस्वी के मामले में हुई थी निष्पक्ष जांच

लेशी सिंह ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जब पूर्णिया जिला के शक्ति मल्लिक हत्याकांड में तेजस्वी यादव पर  मृतक मल्लिक की पत्नी द्वारा हत्या की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। तब भी सरकार ने निष्पक्ष होकर मामले की जांच करवायी। न की नेता प्रतिपक्ष को फंसाया गया। इस बात से साबित हो जाता है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार भरोसे वाली सरकार है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नेतृत्व वाली सरकार में किसी को न तो बचाया जाता है और न ही किसी को फंसाया जाता है। सरकार निष्पक्ष होकर अपना कार्य करती है। बिहार की पुलिस पूर्ण रुपेण स्वतंत्र एवं निष्पक्ष है। बिहार पुलिस पर किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं है। मंत्री ने कहा कि पुलिस प्रशासन पूरी निष्पक्षता से मामले की जांच कर रही है। दूध का दूध और पानी का पानी होगा।

पत्नी के आवेदन पर दो नामजद और दो अज्ञात पर केस दर्ज

मृतक जिप सदस्य विश्वजीत सिंह उर्फ रिंटू सिंह की पत्नी अनुलिका सिंह के लिखित आवेदन के आलोक पर सरसी थाना की पुलिस ने कांड संख्या 158/ 2021 दर्ज कर लिया है। अनुलिका सिंह ने सरसी थाना क्षेत्र के ही रहने वाले पप्पू सिंह के पुत्र आशीष कुमार सिंह उर्फ अटिया और सुदेश कुमार सिंह के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया है। आवेदन में लिखा है कि उनके पति सरसी थाना से महज कुछ ही दूरी पर स्थित एसबीआई के शाखा के समीप संजय शाह की चाय दुकान पर चाय पी रहे थे। इसी क्रम में सुदेश सिंह आया और बातों में उलझा कर उनके पति को रखा। फिर आशीष कुमार सिंह उर्फ अटिया जो वर्तमान बिहार राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री लेशी सिंह का भतीजा है। वह आया और उनके पति के सिर में गोली मार दी। उन्होंने आवेदन में यह भी लिखा है कि उनके पति भविष्य में धमदाहा विधानसभा से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे। राजनीतिक रंजिश के तहत लेशी सिंह ने आशीष कुमार सिंह के द्वारा उनके पति की हत्या करवाई है।  हालांकि इस तरह के सभी आरोप को लेशी सिंह ने बेबुनियाद बताया है और कहा है कि सरकार और पुलिस निष्पक्ष काम कर रही है।

 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें