ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारचुन-चुन कर कार्रवाई होगी; चिराग की मां को गाली पर बोले सम्राट, तेजस्वी ने कहा- सुनता तो बर्दाश्त नहीं करता

चुन-चुन कर कार्रवाई होगी; चिराग की मां को गाली पर बोले सम्राट, तेजस्वी ने कहा- सुनता तो बर्दाश्त नहीं करता

चिराग पासवान की मां को गाली देने के प्रकरण पर राजनीति तेज हो गयी है। एनडीए के नेता हमलावर हैं तो सम्राट चौधरी ने दोषियों पर कार्रवाई की बात कही है। चुनाव आयोग से भी शिकायत की गयी है।

चुन-चुन कर कार्रवाई होगी; चिराग की मां को गाली पर बोले सम्राट, तेजस्वी ने कहा- सुनता तो बर्दाश्त नहीं करता
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,पटनाThu, 18 Apr 2024 02:19 PM
ऐप पर पढ़ें

राजद नेता तेजस्वी यादव की सभा में लोजपा रामविलास के सुप्रीमो चिराग पासवान की मां और बहन  को गाली दिए जाने के मामले में राजनीति तेज हो गई है। एनडीए को विरोधी तेजस्वी यादव और राजद के खिलाफ बैठे-बिठाए एक हथियार मिल गया है। डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने इस मामले में एक्शन लिए जाने की बात कही है तो बीजेपी के महिला नेत्री उषा  विद्यार्थी ने इस प्रकरण को निर्वाचन आयोग तक पहुंचा दिया है। उधर तेजस्वी यादव ने सफाई देते हुए कहा है कि चुनाव के समय इस तरह का रिस्क कौन लेगा। जो हुआ उसे भीड़ में शामिल लोगों ने अंजाम दिया। मैं सुन लेता तो बर्दाश्त नहीं करता।

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर राजनीतिक दलों द्वारा अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिए  धुआंधार रैलियां और जनसभाएं की जा रही हैं। बुधवार तक तेजस्वी यादव ने लगातार औरंगाबाद, जमुई, नवादा और गया में महागठबंधन के उम्मीदवारों की जीत के लिए पसीना बहाया।  इस बीच जमुई में तेजस्वी यादव की सभा नेता प्रतिपक्ष के लिए गले की फांस बन गई। दरअसल जब तेजस्वी यादव भाषण कर कर रहे थे उसी वक्त सभा में शामिल तेजस्वी के एक समर्थक ने लोजपा-आर के चीफ चिराग पासवान की मां को गाली दी। उसने राजद नेता विजय प्रकाश को विजय भैया कहकर संबोधित करते हुए चिराग और उनकी मां तथा बहन  को गाली दी। उस समय राजद उम्मीदवार अर्चना रविदास भी मंच पर मौजूद थीं। तेजस्वी समर्थक ने चिराग पासवान की बहन को भी गाली दी। एनडीए को बैठे बिठाये चुनाव के मौसम में महागठबंधन के खिलाफ एक मुद्दा मिल गया है।

नीतीश सरकार के डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा दोनों आरजेडी पर हमलावर हैं। पटना में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सम्राट चौधरी ने कहा कि गाली गलौज की भाषा को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ऐसे लोगों पर चुन-चुन कर कार्रवाई होगी। रामविलास पासवान दलितों के मसीहा के रूप में जाने जाते हैं। उनकी पत्नी और चिराग पासवान की मां के बारे में अभद्र भाषा का प्रयोग कोई भूल नहीं बल्कि अपराध है। यह काम राजद के द्वारा किया जा रहा है। यह अशोभनीय और पीड़ादायक है। थो़डा इंतजार कीजिए। इस पर कार्रवाई होगी। गाली देने वाले एक भी व्यक्ति बचने नहीं जा रहे हैं। डिप्टी सीएम विजय कुमार सिन्हा ने भी आरजेडी और पार्टी नेताओं को आड़े हाथों लिया।उन्होंने कहा कि यही उन लोगों की कार्य संस्कृति है। यह उनकी मानसिकता और संस्कार को दर्शाता है। 

इधर बीजेपी महिला नेत्री उषा विद्यार्थी ने इस मामले को चुनाव आयोग तक पहुंचा दिया है। निर्वाचन आयोग से शिकायत करके कड़ी कार्रवाई की मांग की गई है। तेजस्वी यादव पर मुकदमा दर्ज कराने की मांग की गई है। बीजेपी नेता संजय जायसावाल ने भी इसकी निंदा की है। उन्होंने कहा है कि राजद का ट्रैक रिकार्ड यही है। उनका यही स्वभाव है कि अपनी निकृष्टता की सीमा को छोड़ने को तैयार नहीं हैं। राजद अपहरण, डकैती और निकृष्टता की संस्कृति के लिए जानी जाती हैं। 

इधर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी इस मामले पर अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि मेरे पास भी वीडियो भेजा गया जिसे देखा है। पब्लिक में शामिल कोई व्यक्ति यह काम कर  रहा है और वीडियो बना रहा है। यह वीडियो पब्लिक में बनाया गया है जिसकी मुझे कोई जानकारी नहीं मिली। मंच से तो गाली नहीं दी गई। हो सकता है कि मेरे बारे में ऐसा बोलता होगा। अभी चुनाव के समय में ऐसा करने का रिस्क वही लेगा जो बेवकूफ होगा। मैं सुन लेता तो बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करता। इस मामले को बेवजह तूल दिया जा रहा है। बात का बतंगर बनाया जा रहा है।


इससे पहले चिराग पासवान ने इस घटना के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर अपने अंदाज में तेजस्वी यादव को जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मेरे मंच पर रहते अगर किसी ने राबड़ी देवी या मीसा भारती के बारे में ऐसी हड़कत किया होता तो उसी वक्त मुंहतोड़ जवाब देता। श्रीमती राबड़ी देवी मेरे लिए मां हैं और मीसा भारती बड़ी बहन हैं। उनके लिए वही सम्मान है जो मेरा मेरी मां और बहन के लिए हैं। राजनीति अलग बात है। चिराग पासवान ने कहा कि मेरी मां बहन को गाली दी जा रही थी और तेजस्वी यादव ने एक शब्द भी नहीं बोला। ताज्जुब है कि उनकी महिला प्रत्याशी भी मां-बहन की गाली सुनकर चुप रहीं और विरोध नहीं किया। ऐसे में जमुई की महिला कैसे अपने आपको सुरक्षित समझेंगी। बिहार का हर वह व्यक्ति इसे बर्दाश्त नहीं करेगा जिसमें स्वाभिमान जिंदा होगा।