ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारएक शहजादे दिल्ली में, दूसरे पटना में, दोनों के रिपोर्ट कार्ड में घोटाला; PM मोदी के निशाने पर राहुल, तेजस्वी

एक शहजादे दिल्ली में, दूसरे पटना में, दोनों के रिपोर्ट कार्ड में घोटाला; PM मोदी के निशाने पर राहुल, तेजस्वी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दरभंगा के राज मैदान में एनडीए प्रत्याशियों के पक्ष में रैली को संबोधित किया। नरेंद्र मोदी ने नाम लिए बगैर राहुल गांधी, लालू यादव, तेजस्वी यादव पर प्रहार किया।

एक शहजादे दिल्ली में, दूसरे पटना में, दोनों के रिपोर्ट कार्ड में घोटाला; PM मोदी के निशाने पर राहुल, तेजस्वी
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,दरभंगाSat, 04 May 2024 04:23 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दरभंगा के राज मैदान में एनडीए प्रत्याशियों के पक्ष में आयोजित विशाल  रैली को संबोधित किया। अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने नाम लिए बगैर राहुल गांधी, लालू यादव, तेजस्वी यादव, अरविंद केजरीवाल समेत इंडी गठबंधन के नेताओं पर करारा प्रराह किया। पीएम मोदी ने ये लोग बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के संविधान में छेड़ छाड़ करके दलित और पिछड़े समाज के आरक्षण पर डाका डालना चाहते हैं। राहुल गांधी और तेजस्वी यादव को शहजादा बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक देश को अपनी जागीर समझते हैं तो दूसरे बिहार को। लेकिन दोनों के रिपोर्ट कार्ड में घोटाला और बेलगाम कानून व्यवस्था की दाग लगी है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण से 500 सालों का सपना पूरा हुआ। पीएम ने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में बीजेपी और जेडीयू की सरकार बिहार के विकास के लिए दिन रात काम कर रही है। लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान के तहत शनिवार को पीएम मोदी ने तीस दिनों में पांचवीं रैली को संबोधित किया।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और आरजेडी के तेजस्वी यादव का नाम लिए बगैर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि  जैसे एक शहजादे दिल्ली में हैं वैसे ही एक शहजादे पटना में भी हैं। शहजादे ने बचपन से पूरे देश को तो दूसरे ने पूरे बिहार को अपनी जागीर समझ रखा है। लेकिन सबको पता है कि इन दोनों शाहजादों के रिपोर्ट कार्ड एक जैसे हैं जिनमें घोटाले और बेलगाम  कानून व्यवस्था के अलावा कुछ नहीं है।  उन दिनों को याद कीजिए जब बिहार में अपहरण उद्योग चलता था।  शाम होते ही हमारी-बहन बेटियां घर से बाहर नहीं निकलती थीं।  घोटाले करके खजाने को लूटा जाता था और नौकरी देने के पहले जमीन लिखवा ली जाती थी।  आज नीतीश जी के नेतृत्व में एनडीए सरकार बिहार के विकास के लिए दिन-रात एक करके काम कर रही है।  एनडीए ने 25 साल का विजन देश के सामने रखा है और 5 साल के विकास का रोड मैप भी तैयार कर लिया है।

पीएम मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर संविधान निर्माता डॉ अंबेडकर और पंडित जवाहर लाल नेहरु के विचारों के खिलाफ काम करना का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि लंबी चर्चा के बाद हमारा संविधान बना।  देश के बड़े-बड़े विद्वानों ने मिलकर इसकी रचना की जिसमें धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं देने का प्रावधान किया गया।  बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने खुलेआम वकालत की कि धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जाना चाहिए। पंडित नेहरू ने भी धर्म के आधार पर आरक्षण का विरोध किया। लेकिन अब गरीब, एससी-एसटी, ओबीसी का कांग्रेस से मोह भंग हो गया है तो तो पार्टी नेहरू जी की भावना के खिलाफ जा रही है और बाबा साहब अंबेडकर के बीच में छुड़ा भोंक रही है। अगर उनकी सरकार बन गई तो संविधान को तोड़ने मरोड़ने की तैयारी है। कांग्रेस ओबीसी कोटे के आरक्षण पर डाका डालकर धर्म के आधार पर मुसलमानों को देने की साजिश कर रही है और कांग्रेस की इस साजिश में आरजेडी कांग्रेस कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है। 

लालू यादव का नाम लिए बगैर मोदी ने कहा कि 2007 में बिहार के शहजादे के पिताजी ने रेलवे मुसलमानों को कोटा देने की बात कही थी।  रेल मंत्री रहते उन्होंने मुसलमानों के लिए आरक्षण कोटे की बात उठाई और अधिकारियों को निर्देश दिया। दरसअसल वह चाहते हैं कि एससी, एसटी और ओबीसी के आरक्षण को छीन कर मुसलमानों को दे दिया जाए। इससे यादव, कुर्मी, पासवान, मुसहर सबके अधिकारों पर डाका पड़ जाएगा।  लेकिन मोदी जब तक जिंदा है, ऐसा कभी नहीं होगा।