ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारपीएम मोदी ने नीतीश को मांझी वाले बयान पर फिर घेरा, आरजेडी-जेडीयू का पलटवार

पीएम मोदी ने नीतीश को मांझी वाले बयान पर फिर घेरा, आरजेडी-जेडीयू का पलटवार

एक महीने के अंदर पीएम मोदी ने दूसरी बार बिहार सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोला है। और कहा कि उन्हें दलितों का अपमान करने में उन्हें आनंद आता है। ये बात जीतन मांझी पर नीतीश के बयान के संदर्भ में कही।

पीएम मोदी ने नीतीश को मांझी वाले बयान पर फिर घेरा, आरजेडी-जेडीयू का पलटवार
Sandeepहिन्दुस्तान,पटनाTue, 21 Nov 2023 11:18 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा। बिना नाम लिए राजस्थान के पाली में चुनाव सभा को संबोधित करते हुए कहा कि घमंडिया गठबंधन के एक नेता हैं, जो बिहारे के सीएम भी है। उन्होने एक पूर्व सीएम के जो अति पिछड़े दलित समाज से आते हैं। उनके लिए ऐसी अभद्र भाषा का प्रयोग किया, जो शायद साधारण नागरिक भी बातचीत में नहीं करता होगा। पीएम मोदी का ये दूसरी बार किसी चुनावी रैली में नीतीश पर हमला था।

चुनावी रैली में पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले ही बिहार में घमंडिया गठबंधन के एक नेता, जो वहां के मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने दलित समाज के एक पूर्व मुख्यमंत्री के लिए ऐसी अभद्र भाषा बोली, जिसका प्रयोग सामान्य नागरिक बातचीत में भी नहीं करता। उन्हें उनका अपमान करने में आनंद आता है। उन्होंने विधानसभा में ये सब बातें कही। उन्होंने तो पाप किया, लेकिन कांग्रेस के एक भी नेता के मुंह से इसके विरोध में एक भी शब्द नहीं निकला। कांग्रेस के पास यह बताने की बुद्धि नहीं है कि यह गलत था। 

इससे पहले, मध्य प्रदेश की चुनावी रैली में प्रधानमंत्री ने बिहार विधानसभा में नीतीश के जनसंख्या नियंत्रण पर दिए गए बयान पर हमला किया था। और कहा था कि इंडिया गठबंधन के नेता ने दुनिया के सामने भारत का अपमान किया है। नीतीश का नाम लिए बिना मोदी ने कहा कि किसी भी इंडिया गठबंधन के नेता ने उनकी अपमानजनक टिप्पणियों पर आपत्ति नहीं जताई। उन्हें कोई शर्म नहीं है...क्या वे इतने नीचे गिरेंगे।

ये भी पढ़िए- मेरी मूर्खता से सीएम बन गए; जीतनराम मांझी पर भड़के नीतीश, तू-तड़ाक तक पहुंची बात

दरअसल विधानसभा में जनसंख्या को नियंत्रित करने में महिलाओं के बीच शिक्षा के महत्व पर जोर देते हुए नीतीश कुमार ने बयान दिया था। जिसमें बताया था कि अगर महिला शिक्षित होगी तो जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण पाया जा सकता है। इसी दौरान उन्होने कुछ ऐसा कह दिया। जिस पर हंगामा मच गया। हालांकि दूसरे दिन नीतीश ने अपने इस बयान पर माफी भी मांग ली थी। वहीं नीतीश की पार्टी जदयू ने भी पीएम बयान पर प्रतिक्रिया दी है। 

यह भी पढ़िए- जीतन मांझी ने बताया नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार में फर्क, बोले- तभी तो पीएम की दीवानी है दुनिया

जेडीयू प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि इन दिनों, पीएम मोदी जीतन राम मांझी के लिए चिंतिंत दिख रहे हैं। लेकिन बीजेपी चुप क्यों थी जब उसके एक विधायक ने पूर्व सीएम को जीतन राक्षस मांझी कहा था। जबकि एक अन्य बीजेपी नेता ने उनकी जीभ काटने की बात कही थी। वे किस तरह दलित सम्मान की बात कर रहे हैं।  जदयू प्रवक्ता ने कहा जीतन मांझी को सम्मान देने वाली नीतीश कुमार ही हैं। जिन्होने मांझी को सीएम और उनके बेटे को मंत्री बनाया। लेकिन मांझी अब बीजेपी के जाल में फंस गये और आये दिन बेबुनियाद बयान दे रहे हैं। भाजपा ने तो दलित नेता दिवंगत जगजीवन राम के नाम पर चलाए जा रहे कार्यक्रम का नाम भी बदल दिया। 

वहीं लालू की पार्टी राजद ने भी पीएम के बयान की निंदा की और लोगों को राम विलास पासवान की मौत के बाद दिल्ली पुलिस द्वारा उनके परिवार के साथ किए गए व्यवहार की याद दिलाई। राजद के प्रवक्ता इजाज अहमद ने कहा हर कोई जानता है कि मांझी जी को बिहार का सीएम किसने बनाया।