DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  पटना: IGIMS और PMCH में कोराना से ज्यादा ब्लैक फंगस के मरीज, मरने वालों के आंकड़ों में भी ब्लैक फंगस वाले ज्यादा

बिहारपटना: IGIMS और PMCH में कोराना से ज्यादा ब्लैक फंगस के मरीज, मरने वालों के आंकड़ों में भी ब्लैक फंगस वाले ज्यादा

पटना संजय पांडेयPublished By: Malay Ojha
Tue, 01 Jun 2021 03:38 PM
पटना: IGIMS और PMCH में कोराना से ज्यादा ब्लैक फंगस के मरीज, मरने वालों के आंकड़ों में भी ब्लैक फंगस वाले ज्यादा

पटना के अस्पतालों में अब कोरोना संक्रमितों से ज्यादा ब्लैक फंगस के मरीज पहुंचने लगे हैं। यह स्थिति ओपीडी में आए मरीजों से लेकर वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या में देखी जाने लगी है। 

आईजीआईएमएस और पीएमसीएच के कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या से ज्यादा मरीज ब्लैक फंगस वार्ड में हो गए हैं। आईजीआईएमएस में कुल भर्ती मरीजों की संख्या 197 है। इनमें से 92 कोरोना संक्रमित जबकि 105 ब्लैक फंगस संक्रमित भर्ती हैं। मरने वालों के आंकड़ें में भी ब्लैक फंगस पीड़ित कोरोना पीड़ितों को पीछे छोड़ने लगे हैं। आईजीआईएमएस में सोमवार को कुल छह की मौत हुई। इनमें से चार ब्लैक फंगस से संक्रमित थे। वहीं पीएमसीएच में कोरोना से सोमवार को एक की भी मौत नहीं हुई जबकि ब्लैक फंगस से एक मरीज की मौत हो गई। पीएमसीएच कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या अब मात्र 15 रह गई है। वहीं ब्लैक फंगस वार्ड में यह संख्या बढ़कर 21 पर पहुंच गई है। सोमवार को पांच ब्लैक फंगस संदिग्ध पीएमसीएच पहुंचे। इनमें दो में इसकी पुष्टि हुई। उन्हें वार्ड में भर्ती लिया गया, जबकि अन्य को जरूरी सलाह देकर छोड़ दिया गया।  

एम्स पटना में भर्ती है 79 संक्रमित 
एम्स पटना में अभी भी कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या ब्लैक फंगस म्यूकरमाइकोसिस वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या से अधिक है। कोविड वार्ड में भर्ती 154 मरीजों में से लगभग 35 ऐसे मरीज हैं जो ब्लैक फंगस से भी संक्रमित हैं। इसके अलावा ब्लैक फंगस वार्ड में 44 मरीज भर्ती हैं।  

ब्लैक फंगस की दवा का कोटा बढ़ेगा  
केंद्रीय न्याय व विधि, संचार और इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अपने पटना दौरे के क्रम में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से कोविड व ब्लैक फंगस पर चर्चा की। यह बात सामने आई कि कोविड मामलों में रिकवरी रेट में काफी सुधार हुआ है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने रविशंकर प्रसाद को बताया कि ‘एमफोटेरेसिन’ नामक दवा अस्पतालों को सप्लाई की जा रही है, लेकिन केंद्र से इसकी आपूर्ति को और बढ़ाने की आवश्यकता है। रविशंकर प्रसाद ने मंगल पांडेय के इस आग्रह के बाद तुरन्त केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन व केंद्रीय राज्य रसायन व उर्वरक मंत्री मंसुख मांडविया से फोन पर बातचीत की। उनसे ब्लैक फंगस के उपचार की दवा की बिहार में सप्लाई कोटा अविलंब बढ़ाए जाने की बात कही।

संबंधित खबरें