Tuesday, January 18, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारमॉडल हत्याकांड: मोना से मिलने को बिल्डर ने किराये पर लिया था लग्जरी फ्लैट, पत्नी को लगी भनक, फिर बेटे संग मिलकर रची खौफनाक साजिश

मॉडल हत्याकांड: मोना से मिलने को बिल्डर ने किराये पर लिया था लग्जरी फ्लैट, पत्नी को लगी भनक, फिर बेटे संग मिलकर रची खौफनाक साजिश

पटना हिन्दुस्तान टीमMalay Ojha
Tue, 26 Oct 2021 02:53 PM
मॉडल हत्याकांड: मोना से मिलने को बिल्डर ने किराये पर लिया था लग्जरी फ्लैट, पत्नी को लगी भनक, फिर बेटे संग मिलकर रची खौफनाक साजिश

इस खबर को सुनें

पटना पुलिस के हत्थे चढ़े कांट्रैक्ट किलर भीम ने कई राज का पर्दाफाश किया है। मॉडल मोना राय की हत्या की साजिश रचने में बिल्डर का बेटा भी शामिल था। उसी ने पहले मोना की तस्वीर शूटरों को दिखायी थी। वहीं शूटरों को लेकर राजीवनगर के आशियाना इलाके में गया था। इसके बाद मोना को उसने दिखाते हुए कहा था कि इसी की हत्या करनी है। उसकी स्कूटी तक की पहचान बिल्डर के बेटे ने करवायी थी ताकि अपराधियों से कोई चूक न हो। 

एसपी सिटी ने बताया कि मोना और फुलवारीशरीफ के रहने वाले बिल्डर राजू कुमार के बीच गहरे संबंध थे। तीन महीने पहले बिल्डर ने 25 लाख रुपये की जमीन मोना के नाम से खरीदी थी। इसका पता चलने के बाद बिल्डर की पत्नी शारदा देवी ने मोना की हत्या की साजिश रच दी। उसने अपने भतीजे राहुल से कांट्रैक्ट किलरों को बुलवाने को कहा था। लेकिन राहुल अपराधियों से बात नहीं कर सका। अंत में शारदा ने अपने एक दूर के रिश्तेदार सुदेश से मोना की हत्या करवाने की बात कही। पांच लाख रुपये सुपारी की बात तय हुई। शंकर, विश्वकर्मा और भीम को सुदेश ने एक लाख 97 हजार रुपये दिये। बाकी पैसे घटना को अंजाम देने के बाद देना था। शूटरों को एक महीने पहले किराये पर मकान तक दिलवाया गया। डीएसपी विधि व्यवस्था संजय कुमार के मुताबिक अपराधी जिस बाइक पर सवार होकर गये थे उसे भी बरामद कर लिया गया है। 

छह की तलाश  जारी

इस मामले में पुलिस को छह आरोपितों की अब भी तलाश है। इनमें बिल्डर की पत्नी शारदा देवी, बिल्डर का बेटा, शारदा का भतीजा राहुल, कांट्रैक्ट किलरों से संपर्क करने वाला सुदेश, सुपारी किलर शंकर और विश्वकर्मा शामिल हैं। पुलिस सभी की तलाश में छापेमारी कर रही है। बिल्डर की पत्नी और बेटा भी पटना छोड़कर फरार हो गये हैं।

विश्वकर्मा ने मारी थी मोना को गोली

मोना को विश्वकर्मा ने गोली मारी थी। घटना के वक्त विश्वकर्मा का मरेरा भाई भीम बाइक चला रहा था। उस रोज शंकर किसी कारण घटनास्थल पर नहीं पहुंच सका था। अपराधी मोना का इंतजार कर रहे थे फिर जैसे ही वो पूजा कर वापस घर लौटी उन्हें गोली मार दी गयी। पकड़ा गया भीम पूर्व में भी डकैती मामले में जेल जा चुका है। 

मोना से मिलने को किराये पर लिया था लग्जरी फ्लैट

मोना के लिये बिल्डर राजू कुमार ने दो कमरों का एक लग्जरी फ्लैट किराये पर ले रखा था। वहीं पर दोनों मिलते थे। पुलिस के मुताबिक आशियाना में जिस जगह मोना अपने पति और बच्चों के साथ रहती थी वहां का किराया भी बिल्डर ही दिया करता थ्रा। जांच में पता चला है कि मोना के बच्चों का स्कूल फीस भी राजू दिया करता था। मोना के बच्चे उसके और राजू के बीच गहरी दोस्ती की बात जानते थे। मोना के पति को भी इन सभी बातों की जानकारी थी।

एसपी सिटी ने बताया कि बिल्डर के घर वाले भी मोना के बारे में सबकुछ जानते थे। लेकिन जब उसकी पत्नी को पता चला कि राजू ने मोना के नाम से संपत्ति खरीदी है तो उसने हत्या की साजिश रचनी शुरू कर दी। नौ सालों से बिल्डर और मोना के बीच दोस्ती थी। मोना का असली नाम अनीता देवी था लेकिन ट्विटर, फेसबुक जैसे सोशल साइट्स पर वह खुद को मोना बताती थी। 

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें