DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › कैसे होगा बिहार में निष्पक्ष चुनाव? 5 सालों से एक ही जिले में तैनात हैं ट्रेजरी ऑफिसर, कोर्ट ने मांगा जवाब
बिहार

कैसे होगा बिहार में निष्पक्ष चुनाव? 5 सालों से एक ही जिले में तैनात हैं ट्रेजरी ऑफिसर, कोर्ट ने मांगा जवाब

पटना। विधि संवाददाताPublished By: Malay Ojha
Tue, 22 Sep 2020 09:12 PM
कैसे होगा बिहार में निष्पक्ष चुनाव? 5 सालों से एक ही जिले में तैनात हैं ट्रेजरी ऑफिसर, कोर्ट ने मांगा जवाब

फ्री एंड फेयर चुनाव के लिए चुनाव आयोग के निर्देशों का पालन नहीं किये जाने के मामले में पटना हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग सहित राज्य के मुख्य सचिव तथा वित्त विभाग के प्रधान सचिव से जवाब तलब किया है। अदालत ने दो दिनों के भीतर जवाबी हलफनामा दायर कर स्थिति स्पष्ट करने का आदेश दिया है। 

मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल तथा न्यायमूर्ति एस कुमार की खंडपीठ ने बिहार प्रदेश उन्मूलन समिति की ओर से दायर लोकहित याचिका पर सुनवाई की। कोर्ट को बताया गया कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव फ्री एंड फेयर कराने के लिए 30 जून के निर्देशों का पालन नहीं किया गया है। 

उनका कहना था कि आयोग ने अधिकारियों को उनके गृह जिला में तैनाती नहीं करने तथा एक ही जगह चार साल से ज्यादा समय से पदस्थापित अधिकारियों को हटाने का निर्देश दिया था। लेकिन 42 ट्रेजरी ऑफिसर एक ही जगह पांच वर्षों से ज्यादा समय से पदस्थापित हैं। कई अधिकारी अपने गृह जिला में तैनात हैं। इन सभी अधिकारियों को आगामी विधानसभा चुनाव में नोडल अधिकारी बनाया गया है। ऐसे में फ्री एंड फेयर चुनाव सम्भव नहीं है। 

कोर्ट ने कहा कि दूसरे पक्षों का पक्ष जान कर कोई भी आदेश पारित करना न्यायोचित होगा। कोर्ट ने दूसरे पक्षों को दो दिनों के भीतर जवाबी हलफनामा दायर करने का आदेश दिया। साथ ही मामले पर अगली सुनवाई की तारीख 25 सितम्बर तय की।

संबंधित खबरें