ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारजेपी नड्डा से पशुपति पारस की मुलाकात, बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन पर क्या कहा?

जेपी नड्डा से पशुपति पारस की मुलाकात, बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन पर क्या कहा?

पूर्व केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस ने शनिवार को दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने कहा कि रालोजपा के बिहार चुनाव लड़ने को लेकर अपडेट दिया।

जेपी नड्डा से पशुपति पारस की मुलाकात, बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन पर क्या कहा?
Jayesh Jetawatलाइव हिन्दुस्तान,पटनाSat, 22 Jun 2024 07:34 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (रालोजपा) के मुखिया पशुपति पारस ने शनिवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर अपडेट दिया। पारस ने कहा कि अगर उनकी पार्टी को उचित सम्मान मिलेगा तो वह एनडीए में रहकर ही बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि पशुपति पारस की अपने भतीजे चिराग पासवान से पुरानी अदावत है। लोकसभा चुनाव 2024 में पारस की पार्टी को एनडीए में साइडलाइन कर दिया गया। रालोजपा की जगह बीजेपी ने गठबंधन में चिराग के गुट वाली लोजपा रामविलास को तरजीह दी। 

पूर्व केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस शनिवार को नई दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्य़क्ष जेपी नड्डा से मिलने उनके आवास पहुंचे। इस दौरान रालोजपा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस राज भी मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि इस दौरान पारस ने बिहार चुनाव को लेकर नड्डा से चर्चा की। इस बैठक के बाद एक चैनल से बातचीत में पारस ने संकेत दिए कि वे आगामी बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें भरोसा है एनडीए में रालोजपा को उचित सम्मान मिलेगा और वह गठबंधन में रहकर ही बिहार चुनाव लड़ेंगे।

इस दौरान पारस से पूछा गया कि अगर एनडीए में उचित सम्मान नहीं मिला तो उनका क्या फैसला होगा। इस पर रालोजपा चीफ ने जवाब दिया कि ऐसी स्थिति में पार्टी की पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक बुलाई जाएगी। उसमें पार्टी के नेता जो भी फैसला लेंगे उस आधार पर आगे की रणनीति तय की जाएगी।

मंत्री चिराग पासवान को बड़ा बेटा कहकर पशुपति पारस ने पहले ही दिन हाजीपुर के लिए रख दी बड़ी मांग

बता दें कि लोकसभा चुनाव में रालोजपा को तरजीह न मिलने के बाद पशुपति पारस ने लोकसभा चुनाव से पहले केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके गठबंधन छोड़ने की अटकलें भी लगाई जाने लगीं। हालांकि बाद में उन्होंने साफ किया कि भले ही उन्हें एक भी सीट नहीं मिली है लेकिन वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करेंगे। लोकसभा चुनाव में एनडीए की जीत पर पारस ने पीएम मोदी को जीत की बधाई भी दी थी।

Advertisement