ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारसीमांचल में साइबर फ्रॉड का निकला पाकिस्तानी कनेक्शन, फ्लिपकार्ट से ऑर्डर किया तो ऐसे फंसे तीन ठग

सीमांचल में साइबर फ्रॉड का निकला पाकिस्तानी कनेक्शन, फ्लिपकार्ट से ऑर्डर किया तो ऐसे फंसे तीन ठग

तीनों ठग पाकिस्तान के एक हैंडलर के इशारे पर काम कर रहे थे। उन्होंने नेपाल में एक बैंक खाता खुलवाया था, जिसमें पाकिस्तान से 50 लाख का लेनदेन हुआ था।

सीमांचल में साइबर फ्रॉड का निकला पाकिस्तानी कनेक्शन, फ्लिपकार्ट से ऑर्डर किया तो ऐसे फंसे तीन ठग
Jayesh Jetawatलाइव हिन्दुस्तान,पूर्णियाFri, 08 Dec 2023 08:45 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के सीमांचल में पाकिस्तान से वाया नेपाल साइबर फ्रॉड करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। पूर्णिया पुलिस ने अररिया जिला के मोहम्मद शाहनवाज,  मोहम्मद साकीम आलम और सुशील कुमार को चोरी के एक मोबाइल, भारी मात्रा में भारतीय और नेपाली एटीएम कार्ड तथा नकदी के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। तीनों आरोपी फ्लिपकार्ट से चोरी के मोबाइल से फ्लिपकार्ट पर सामान ऑर्डर कर रहे थे। पुलिस को पता चला तो उन्होंने सामान डिलीवरी करने के दौरान ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को साइबर ठगी से मिलने वाले पैसे का टेरर फंडिंग के कनेक्शन का भी पता लगाया जा रहा है। केंद्रीय जांच एजेंसी एनआईए भी हरकत में आ गई है।

पुलिस अधीक्षक आमिर जावेद ने बताया कि एक दिसंबर को पूर्णिया के एक व्यक्ति का मोबाइल की चोरी हो गया था। उन्होंने एसपी कार्यालय में लिखित आवेदन दिया था कि उनके मोबाइल में इंस्टॉल फोनपे के जरिए आरोपी फ्लिपकार्ट सहित अन्य कंपनियों से ऑर्डर देकर सामान खरीद रहे हैं। इसके बाद पुलिस की एक टीम बनाकर मामले का वैज्ञानिक अनुसंधान शुरू किया गया। इसी दौरान आरोपियों ने फ्लिपकार्ट से ऑर्डर देकर कुछ सामान मंगवाया जिसकी डिलीवरी जलालगढ़ के समीप होनी थी। वहीं पर पुलिस ने जाल बिछाकर तीनों आरोपियों  को चोरी के मोबाइल के साथ गिरफ्तार कर लिया। जब पुलिस अनुसंधान आगे बढ़ा तो चौंकाने वाले खुलासे हुए। 

फोन पर पाकिस्तानी हेंडलर से संपर्क हुआ था :
एसपी ने बताया कि तीनों दोस्त पहले नेपाल से मटर की खेप को लाकर सीमांचल के अलग-अलग इलाकों में बेचते थे। इसी दौरान पाकिस्तान के एक हैंडलर से उनकी फोन पर बात हुई और हैंडलर ने उन्हें कहा कि वह नेपाल में जाकर किसी नागरिक का आईडी वगैरह लेकर खाता खुलवाए। उस खाते से जितना भी लेनदेन होगा उसका दो फीसदी खाताधारक को दिया जाएगा। इसके बाद महज एक साल में तीनों आरोपियों ने नेपाल स्थित खाते से 50 लाख रुपये का लेनदेन पाकिस्तान से किया।

टेरर फंडिंग के तौर पर रुपये के इस्तेमाल की भी जांच
पुलिस के अनुसार नेपाल स्थित खाते में रुपये आने के बाद तीनों खाते से पैसे निकाल लेते थे। हालांकि पुलिस ने इसका खुलासा नहीं किया है कि आखिर इस रुपये को ये लोग सीमांचल के इलाकों में किस मद में खर्च करते थे। पता चला है कि पाकिस्तान में बैठे हैंडलर के द्वारा नेपाली  नागरिक के खाता में रुपये भेजने के बाद इन्हें निकालने का आदेश दिया जाता था।  फिर उसे भारतीय क्षेत्र में किसी व्यक्ति के सुपुर्द करने को कहा जाता था। इसकी एवज में तीनों को मोटी रकम भी मिलती थी। हालांकि पुलिस फंडिंग के अलावा अन्य बिंदुओं पर भी जांच पड़ताल कर रही है।

एनआईए हरकत में आई: 
एसपी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय मामला रहने की वजह से अनुसंधान में तकनीकी दिक्कतें आ रही हैं।  बैंक डिटेल्स की जानकारी भी मिल चुकी है। जरूरत पड़ी तो गिरफ्तार आरोपियों को दोबारा पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा।  जल्द ही दिल्ली की एक टीम भी गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों से आकर जेल में पूछताछ कर सकती है। इस मामले की सूचना मिलने के बाद एनआईए की टीम भी हरकत में आ गई है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें