DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › ऑपरेशन के बाद प्रसूता की मौत, परिजनों ने डॉक्टरों को पीटा, मामला सुलझाने पहुंची पुलिस के साथ हुई झड़प
बिहार

ऑपरेशन के बाद प्रसूता की मौत, परिजनों ने डॉक्टरों को पीटा, मामला सुलझाने पहुंची पुलिस के साथ हुई झड़प

कार्यालय संवाददाता,लखीसरायPublished By: Sneha Baluni
Sat, 31 Jul 2021 09:56 AM
ऑपरेशन के बाद प्रसूता की मौत, परिजनों ने डॉक्टरों को पीटा, मामला सुलझाने पहुंची पुलिस के साथ हुई झड़प

लखीसराय जिले के कबैया थाना क्षेत्र से महज सौ मीटर की दूरी पर शनिवार की अल सुबह एक निजी क्लिनिक में प्रसूता की ऑपरेशन के बाद मौत हो गई। डॉक्टर की लापरवाही से मौत का आरोप लगाते हुए परिजनों ने न सिर्फ क्लिनिक में तोड़फोड़ की बल्कि महिला व पुरुष आयुर्वेद डॉक्टर के साथ ही मामले को सुलझाने पहुंची पुलिस के साथ मारपीट की। मृतका केंद्रीय सरकारी सेवा में कार्यरत थीं। 

बताया जा रहा है कि रामगढ़चौक थाना क्षेत्र के इमामनगर सुरारी निवासी संजय कुमार की पत्नी सिलम कुमारी प्रसव पीड़ा के बाद कबैया थाना से महज सौ मीटर की दूरी पर स्थित साईं सेवा क्लिनिक में भर्ती करायी गईं थीं। मृतका के परिजन नीलम देवी और दीपक कुमार ने बताया कि ऑपरेशन के नाम पर पहले तो चिकित्सक द्वारा 80 हजार रुपए जमा करवा लिये गये। ऑपरेशन के बाद नवजात का जन्म हुआ और फिर थोड़ी देर बाद डॉक्टर अपने कमरे में चले गए। 

देर रात करीब तीन बजे स्थिति बिगड़ने पर जब दोबारा डॉक्टर को बुलाने गए तो तीन बार टाल-मटोल कर गए और यह कहकर लौटा दिया कि जाओ कुछ नहीं होगा। बाद में जब परिजनों ने दबाव बनाया तो डॉक्टर आए और स्थिति खराब होने की बात कहकर कहीं और ले जाने की बात कहने लगे। कुछ ही देर बाद नीलम की मौत हो गई। इसपर परिजन आक्रोशित हो गए और डॉक्टर व अस्पताल कर्मियों के साथ मारपीट की। अस्पताल के दरवाजे व कुछ अन्य सामानों को तोड़फोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया। 

डॉक्टर सदर अस्पताल में भर्ती, हालत गंभीर

मारपीट के बाद डॉक्टर एस प्रसाद बुरी तरह से जख्मी हो गए हैं। उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। सदर अस्पताल में पुलिस अभिरक्षा में उनका इलाज चल रहा है। हालांकि सुबह सात बजे तक उनके परिजन भी अस्पताल नहीं पहुंच सके थे। बेहोशी की हालत में उनका इलाज सदर अस्पताल में चल रहा था। सिर, नाक सहित शरीर के अलग-अलग हिस्सों में उन्हें गहरी चोटें आई है। उनके अलावा डॉ. प्रियंका को भी मामूली चोट आई है। उन्हें कबैया थाना में रखा गया है। 

आधे घंटे जाम, पुलिस के साथ हुई झड़प

प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने करीब सात बजे के बाद कबैया के पास ही लखीसराय-जमुई मोड़ मुख्य सड़क को जाम कर दिया। शव को सड़क पर रखकर व बायपास की ओर जाने वाली सड़क का बांस से घेराव कर रास्ते को बाधित कर दिया गया। परिजनों ने जमकर विरोध भी जताया। इस बीच मौके पर पहुंची कबैया पुलिस के साथ परिजनों की झड़प भी हुई। हालांकि बाद में पुलिस लाइन से बड़ी संख्या में फोर्स मंगवाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया।

एसडीपीओ रंजन कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। हालांकि अभी किसी भी तरह से आवेदन नहीं मिला है। आवेदन के आधार पर भी आगे की कार्रवाई होगी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। वहां वरीय पदाधिकारी द्वारा बोर्ड का गठन कर पोस्टमार्टम कराने की तैयारी चल रही है।

संबंधित खबरें