DA Image
16 जनवरी, 2021|2:33|IST

अगली स्टोरी

बिहार में अब हत्याकांडों की जांच करेंगे थानाध्यक्ष, पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों को भेजा निर्देश 

crime jpg

बिहार में अब हत्याकांडों का अनुसंधान तेज करने, आरोपियों की गिरफ्तारी और केस के निष्पादन में तेजी लाने के लिए अब हत्याकांडों का अनुसंधान थानाध्यक्ष को ही करना होगा। इसको लेकर पुलिस मुख्यालय से भागलपुर सहित अन्य जिलों के एसपी को निर्देश दिया गया है।

पुलिस मुख्यालय से सीआईडी के एडीजी विनय कुमार ने इसको लेकर निर्देश दिया है। हत्याकांड को लेकर पुलिस मुख्यालय में हुई समीक्षा के बाद थानाध्यक्षों को हत्याकांड का अनुसंधान करने का निर्देश जारी किया गया है।

समीक्षा में पाया गया कि कई हत्याकांड के केस लंबित पड़े हैं, क्योंकि उन कांडों के आईओ सभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं करा सके। कई कांड एफएसएल रिपोर्ट के इंतजार में तो कई कुछ अन्य कारणों से लंबित पाये गये। यह भी देखा गया है कि भागलपुर सहित अन्य जिलों में हत्याकांडों का अनुसंधान जेएसआई और जमादार तक से कराया जा रहा है जिस वजह से कांड लंबित हो रहे हैं। 

साक्षियों के बयान की वीडियोग्राफी होगी
हत्याकांडों को लेकर कई और निर्देश दिये गये हैं। इन कांडों में साक्षियों के बयान की वीडियोग्राफी कराने को कहा गया है। शव का सूक्ष्म अवलोकन करने, घटनास्थल पर एफएसएल की टीम से जांच कराने और नजरी नक्शा तैयार कराने, भौतिक साक्ष्यों जैसे खून लगे कपड़े, मिट्टी, गोली, खोखा और हथियार के अलावा अन्य जब्त किये गये सामान की एफएसएल में जांच कराने का निर्देश दिया गया है। 

भूमि विवाद में ग्राम कचहरी की भी मदद लें
हत्या के प्रमुख कारणों में जमीन विवाद भी सामने आ चुका है। ऐसे में जमीन विवाद आने पर न सिर्फ थाना और सीओ के स्तर से उसे सुलझाने का प्रयास करना होगा बल्कि ग्राम कचहरी के सहयोग से भी उसका हल निकालने को कहा गया है। पर्यवेक्षी पदाधिकारी को घटना के तुरंत बाद घटनास्थल पर पहुंचने और तीन दिनों के अदंर पर्यवेक्षण टिप्पणी निर्गत करने का निर्देश दिया गया है। पीड़ति पक्ष को डराने और धमकाने की घटनाओं को हर हाल में रोकने और हत्याकांड में लापरवाही करने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई को कहा गया है। सीआईडी के एडीजी ने कहा कि हत्याकांडों की समीक्षा के बाद कई बिंदुओं पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है। अनुसंधान में गंभीरता रहे और लापरवाही न हो इसके लिए थानाध्यक्ष को ही ऐसे कांडों के अनुसंधान को कहा गया है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Now Police station incharge will investigate of murder cases in Bihar and police headquarters issued instructions to all district SP for it