DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दुस्तान एक्सक्लूसिव: प्लास्टिक से कैंसर ही नहीं, प्रजनन विकार भी

प्लास्टिक के उपयोग से कैंसर ही नहीं प्रजनन विकार की समस्या भी आ सकती है। पटना के टीपीएस कॉलेज में चल रहे एक शोध के दौरान यह तथ्य सामने आए हैं। यहां प्रदूषकों में कैंसरकारक एजेंट विशेषकर, प्लास्टिक के दुष्प्रभाव पर शोध हो रहा है।

कॉलेज में बिहार सरकार के सहयोग से एक एनिमल हाउस सेल कल्चर लैबोरेट्री बनाई गई है, जहां यह शोध हो रहा है। लैब का उद्घाटन जुलाई में होना है। फिलहाल यहां छोटे जीवों पर शोध के लिए एसएस हॉस्पिटल रिसर्च इंस्टीट्यूट के साथ करार हुआ है।

बॉटनी विभाग की अध्यक्ष डॉ तनुजा के नेतृत्व में डॉ अंजली सिंह के साथ 15 लोगों की टीम काम कर रही है। इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से डेढ़ करोड़ की राशि दी जा चुकी है। इसमें कैंसर विशेषज्ञ डॉक्टर जेजे सिंह की विशेषज्ञता का लाभ लिया जा रहा है।

कॉलेज के प्राचार्य डॉ उपेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि लैब के निर्माण के लिए बिहार सरकार से 98 लाख मिले हैं। डॉ तनुजा बताती हैं कि एनिमल हाउस में स्विस एल्बिनोमाइस  प्रजाति के चूहों पर प्रदूषकों के प्रभावों को लेकर परीक्षण किया जा रहा है। अब तक परीक्षण में पाया गया है कि प्लास्टिक साइजर से इनकी कोशिकाएं कैंसरग्रस्त हो रही हैं। साथ ही प्लास्टिक की वजह से प्रजनन विकार की समस्या भी आ रही है प्लास्टिक सर्जन की समस्याएं हो रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Not only cancer from plastic breeding disorders also