ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारपटना के बाद दिल्ली में चिराग पासवान से मिले नित्यानंद राय, डिनर टेबल पर क्या हुई चर्चा?

पटना के बाद दिल्ली में चिराग पासवान से मिले नित्यानंद राय, डिनर टेबल पर क्या हुई चर्चा?

नित्यानंद राय के बार-बार चिराग पासवान से मुलाकात के बड़े सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में चर्चा जोर शोर पर है है किर बीजेपी और एलजेपी आर के बीच कौन सा गुल खिलाया रहा है

पटना के बाद दिल्ली में चिराग पासवान से मिले नित्यानंद राय, डिनर टेबल पर क्या हुई चर्चा?
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,पटनाSat, 15 Jul 2023 09:51 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव 2024 को देखते हुए सियासी मुलाकातों और डिनर डिप्लोमेसी का दौर बढ़ता जा रहा है। सभी दलों के नेता अपने-अपने समीकरण सेट करने में लगे हैं। शायद यही वजह है कि भारतीय जनता पार्टी के सीनियर लीडर और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने 7 दिनों में दूसरी बार लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान से मुलाकात की। केंद्रीय मंत्री और जमुई सांसद नेनएक साथ खाना खाया। इस दौरान चिराग पासवान की मां रीना पासवान भी मौजूद रही। चर्चा का बाजार गर्म है कि आखिर दोनों दलों के बीच कौन सा गुल खिल रहा है। चिराग पासवान के चाचा पशुपति कुमार पारस को लेकर भी तरह-तरह की चर्चा शुरू हो गई है।

शुक्रवार की रात केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की नित्यानंद राय चिराग पासवान के घर पहुंच ग। पटना के बाद दिल्ली में दोनों नेताओं के बीच मुलाकात हुई। चिराग पासवान के घर पर पहुंचे नित्यानंद राय ने वहीं खाना भी खाया। 7 दिनों में दोनों नेताओं की यह दूसरी मुलाकात है। इससे पहले 9 जुलाई को नित्यानंद राय पटना में चिराग के आवास पर पहुंच गए। उस दिन लोजपा रामविलास के महत्वपूर्ण बैठक पटना में होने वाली थी जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान और पार्टी के सभी प्रमुख नेता साथ बैठने वाले थे। पटना में दोनों नेताओं के बीच वार्ता भी हुई बाहर निकले नित्यानंद राय ने बताया कि हमारा पारिवारिक रिश्ता है। अक्सर मिलते रहते हैं और जब भी मिलते हैं कुछ अच्छा करते हैं। उसी बैठक में चिराग पासवान को पार्टी की ओर से गठबंधन पर बात करने के लिए अधिकृत कर दिया गया।

BJP से चिराग का सबकुछ सेट हो गया? मुलाकात के बाद नित्यानंद राय ने कही यह बात; LJP(R) चीफ दिल्ली रवाना

नित्यानंद राय के बार-बार चिराग पासवान से मुलाकात के बड़े सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में चर्चा जोर शोर पर है है किर बीजेपी और एलजेपी आर के बीच कौन सा गुल खिलाया रहा है। चर्चा है कि चिराग पासवान को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। उनके चाचा पशुपति पारस पहले से मोदी कैबिनेट में मंत्री हैं। चिराग पासवान खुद को नरेंद्र मोदी का हनुमान बताते हैं।

क्या SC रिजर्व हाजीपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकती हैं चिराग पासवान की मां रीना?

यह भी चर्चा है कि बीजेपी लोजपा के दोनों गुटों को एनडीए में शामिल कर सहयोग लेना चाहती है। इसलिए चाचा भतीजा को एक करने की कवायद की जा रही है। ऐसा होता है तो पासवान समुदाय का एकजुट वोट एनडीए को 2024 में हासिल होगा। चाचा भतीजा एक हो गए तो राजनीतिक दूरियां खत्म हो जाएंगी जिसका सीधा लाभ एनडीए को होगा और विपक्षी एकता को जवाब देने में सुविधा मिलेगी।

एक चर्चा यह भी है कि 2024 में चिराग पासवान की मां रीना पासवान रामविलास पासवान की सीट हाजीपुर से चुनाव लड़ सकती है। इस सीट पर फिलहाल रामविलास पासवान के भाई पशुपति पारस सांसद हैं और केंद्र में मंत्री भी हैं। रामविलास पासवान के जन्मदिन पर चिराग पासवान ने हाजीपुर को अपनी सीट बताया था। माना जा रहा है कि इस मुद्दे पर चाचा-भतीजा को एक साथ लाने की कोशिश की जा रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें