ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनीतीश आज पूर्वी चंपारण को देंगे सौगात, केसरिया में पर्यटकों को मिलेंगी सुविधाएं; कल पुनौरा धाम जाएंगे सीएम

नीतीश आज पूर्वी चंपारण को देंगे सौगात, केसरिया में पर्यटकों को मिलेंगी सुविधाएं; कल पुनौरा धाम जाएंगे सीएम

नीतीश कुमार मंगलवार को पूर्वी चम्पारण जिलान्तर्गत केसरिया में पर्यटकीय सुविधाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे। योजना के अनुसार केसरिया स्तूप के सदृश्य कुल आठ संरचनाओं का निर्माण कराया जाना है।

नीतीश आज पूर्वी चंपारण को देंगे सौगात, केसरिया में पर्यटकों को मिलेंगी सुविधाएं; कल पुनौरा धाम जाएंगे सीएम
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाTue, 12 Dec 2023 08:02 AM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार को पूर्वी चम्पारण जिलान्तर्गत केसरिया में पर्यटकीय सुविधाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे। वहीं 13 दिसंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार माता जानकी की जन्मस्थली पुनौरा धाम (सीतामढ़ी) के विकास एवं सौंदर्यीकरण की योजना का शुभारंभ करेंगे। केसरिया स्तूप के सदृश्य कुल आठ संरचनाओं का निर्माण कराया जाना है। यह मुख्य स्तूप का छोटा स्वरूप होगा, जिसकी आकृति हर प्रकार से मुख्य स्तूप के सदृश्य होगी। साथ ही मुख्य स्तूप के विलुप्त भाग को भी इस संरचना में निर्माण किये जाने का प्रावधान है। 19.77 करोड़ की इस योजना की आधारशिला रखी जाएगी। इसके साथ ही केसरिया स्तूप के निकट मार्गीय सुविधा का निर्माण पर्यटन विभाग द्वारा 6.90 करोड़ रुपये की लागत से कराया गया है। 

इस योजना के अन्तर्गत टूरिस्ट विजिटर सेंटर एवं कैफेटेरिया भवन का निर्माण कराया गया है। इसका मुख्यमंत्री उद्घाटन करेंगे। पर्यटन सचिव अभय कुमार सिंह ने कहा कि पूर्वी चम्पारण जिलान्तर्गत केसरिया स्तूप विश्व का सबसे बड़ा स्तूप है। देशी और विदेशी के साथ स्थानीय पर्यटक बोधगया, राजगीर, नालंदा, वैशाली, लौरिया नंदनगढ़, कुशीनगर आदि बौद्ध स्थलों के भ्रमण को आते हैं, वह केसरिया स्तूप के दर्शन के लिए अवश्य आते हैं। वर्तमान में केसरिया स्तूप आने वाले पर्यटकों के अनुभव को और बेहतर बनाने के लिए पर्यटन विभाग निरंतर प्रयासरत है। इसी के तहत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार को केसरिया में कई महत्वपूर्ण पर्यटकीय सुविधाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे। इससे यहां आने वाले श्रद्वालुओं को बेहतर पर्यटकीय सुविधा उपलब्ध हो सकेगी तथा पर्यटको की संख्या में वृद्धि होगी।

केसरिया में 19.77 करोड़ की आधारशिला रखी जाएगी। मुख्य संरचना के चारो ओर कुल 08 लघु प्रतिकृतियां जिसमें विश्व शांति स्तूप, महाबोधि मंदिर, नालंदा विश्वविद्यालय के भग्नावशेष, अशोक स्तंभ वैशाली, विक्रमशिला, गुरूपा बोध स्थल, बराबर की गुफा एवं सुजाता स्तूप का निर्माण किया जाना है, जो पर्यटकों को बौद्ध वास्तुकला की संपूर्ण झलक देगा तथा पर्यटकों को इस स्थल पर आने के लिए प्रेरित करेगा। स्तूप जैसी आकृति के अंदर 45 सीटों वाले सभागार का निर्माण भी इस योजना के तहत प्रस्तावित है, जो उत्तम दर्जे के ऑडियो-विजुअल सिस्टम से लैस होगा। इस संरचना में भगवान बुद्ध से संबंधित लघु वृतचित्र एवं प्रर्दशनी दिखाए जाने हेतु एक प्रर्दशनी हॉल का भी प्रावधान किया गया है। परिसर की आंतरिक सड़क, पार्किंग स्थल एवं परिसर के सौन्दर्यीकरण कार्य भी किये जाने का प्रावधान है। 

नीतीश 13 को करेंगे पुनौराधाम के विकास एवं सौंदर्यीकरण की योजना का शुभारंभ 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 13 दिसंबर को माता जानकी की जन्मस्थली पुनौरा धाम (सीतामढ़ी) के विकास एवं सौंदर्यीकरण की योजना का शुभारंभ करेंगे। यह जानकारी जल संसाधन व सूचना एवं जलसंपर्क मंत्री संजय कुमार झा ने दी। सोमवार को सोशल मीडिया एक्स पर उन्होंने कहा कि आज सीतामढ़ी जिला स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर यह जानकारी साझा करते हुए हमें सात्विक आनंद की अनुभूति हो रही है। 

मंत्री ने कहा कि योजना के तहत पुनौराधाम को विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैश किया जाएगा। इसमें मंदिर परिसर का सुंदर वास्तुशिल्प से सौंदर्यीकरण, परिक्रमा पथ, सीता वाटिका, लव-कुश वाटिका, जानकी महोत्सव क्षेत्र, मंडप, पार्किंग क्षेत्र, आंतरिक सड़क आदि का निर्माण शामिल है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में सितंबर 2023 में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस योजना को मंजूरी मिली थी। इसके पहले उन्होंने सीतामढ़ी जिले के सभी निवासियों को जिला स्थापना दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी। अपने शुभकामना संदेश में कहा कि मां जानकी की कृपा सभी पर सदैव बनी रहे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें