ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारसमाजवाद का चोला पहनकर नीतीश कुमार... भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आरजेडी एमएलसी सुनील सिंह का सीएम पर बड़ा आरोप

समाजवाद का चोला पहनकर नीतीश कुमार... भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आरजेडी एमएलसी सुनील सिंह का सीएम पर बड़ा आरोप

आरजेडी एमएलसी ने आरोप लगाते हुए कहा कि विधान परिषद के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधायकों और विधान पार्षदों को धमका रहे हैं। वो दुर्भावना से ग्रसित हैं और विपक्ष को डराने की कोशिश कर रहे हैं।

समाजवाद का चोला पहनकर नीतीश कुमार... भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आरजेडी एमएलसी सुनील सिंह का सीएम पर बड़ा आरोप
Malay Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,पटनाMon, 19 Feb 2024 02:43 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार विधान मंडल बजट सत्र के चौथे सोमवार को विपक्ष ने विधान परिषद के बाहर जोरदार प्रदर्शन और नारेबाजी किया। विधान परिषद में नेता विरोधी दल राबड़ी देवी ने अपने पार्टी के नेताओं साथ प्रदर्शन किया। वहीं आरजेडी एमएलसी सुनील सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर गंभीर आरोप लगाए। आरजेडी एमएलसी ने आरोप लगाते हुए कहा कि विधान परिषद के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधायकों और विधान पार्षदों को धमका रहे हैं। इससे साफ पता चलता है कि वो दुर्भावना से ग्रसित हैं और विपक्ष को डराने की कोशिश कर रहे हैं। आरजेडी के विभागों के जांच के मुद्दे पर सुनील सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि समाजवादी का चोला पहनकर नीतीश कुमार से बड़ा भ्रष्टाचारी इस देश में कोई नेता नहीं है। 

सुनील सिंह ने आगे कहा कि जो व्यक्ति खुद सृजन घोटाले में लिप्त हो, वह भ्रष्टाचार की बातें कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार में मृत्यु प्रणाम पत्र से लेकर दाखिल खारिज करने तक के लिए पैसे लिए जाते हैं।

इससे पहले विधानसभा में विधायकों को धमकाने, सृजन घोटाले और अन्य मांगो को लेकर बिहार विधान परिषद की कार्रवाई शुरू होने से पहले आरजेडी के सदस्यों ने विधान परिषद पोर्टिको में जमकर की नारेबाजी। राबड़ी देवी और सुनील सिंह के नेतृत्व में आरजेडी विधायकों ने सृजन चोर गद्दी छोड़ के नारे लगाए और सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया।

बता दें कि आरजेडी व कांग्रेस की ओर से मांग की गई है कि 2005 से अबतक एनडीए सरकार के दौरान विभिन्न विभागों में जो काम काज हुए उसकी समीक्षा व जांच की जाए नहीं तो कोर्ट का रुख करेंगे। महागठबंधन का आरोप है कि कई घोटाले हुए हैं। महागठबंधन से यह मांग तब उठ रही है जब एनडीए सरकार द्वारा महागठबंधन सरकार में तेजस्वी के पास रहे स्वास्थ्य विभाग, पथ निर्माण विभाग, नगर विकास एवं आवास विभाग के कामकाज और लिए फैसलों की समीक्षा करने के आदेश दिए गए हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें