ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनीतीश कुमार ने सदन में रखा प्रस्ताव, आरक्षण सीमा बढ़ाकर 65 प्रतिशत हो; EWS को अलग से 10 फीसदी

नीतीश कुमार ने सदन में रखा प्रस्ताव, आरक्षण सीमा बढ़ाकर 65 प्रतिशत हो; EWS को अलग से 10 फीसदी

नीतीश कुमार ने आरक्षण सीमा को बढ़ाने का प्रस्ताव किया। उन्होंने कहा कि आरक्षण की पचास प्रतिशत की सीमा को बढ़ाकर 65 प्रतिशत कर दिया जाए। ईडब्ल्यूएस के लिए अलग से 10 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था होगी।

नीतीश कुमार ने सदन में रखा प्रस्ताव, आरक्षण सीमा बढ़ाकर 65 प्रतिशत हो; EWS को अलग से 10 फीसदी
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,पटनाWed, 08 Nov 2023 05:35 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में जातीय गणना का रिपोर्ट आने के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि आरक्षण की सीमा बढ़ाई जाएगी। राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने इसपर अपना रुख पहले ही स्पष्ट कर दिया था। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसे लेकर बड़ी बात कही।  विधानसभा के शीतकालीन सत्र में जातीय गणना के आर्थिक शैक्षणिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पर बोलते हुए नीतीश कुमार ने आरक्षण सीमा को बढ़ाने का प्रस्ताव किया। उन्होंने कहा कि आरक्षण की पचास प्रतिशत की वर्तमान  सीमा को बढ़ाकर 65 प्रतिशत  कर दिया जाए। ईडब्ल्यूएस के लिए अलग से 10% आरक्षण की व्यवस्था होगी।  कुल मिलाकर 75 प्रतिशत आरक्षण का प्रस्ताव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया है।  उन्होंने कहा है कि चालू सत्र में इस पर कानून बनाने के लिए प्रस्ताव लाया जाएगा। इसके अलावे राज्य के 94 लाख गरीब परिवारों को दो दो लाख का सहायता देने का प्रस्ताव भी किया गया है।

नीतीश कुमार ने कहा कि सर्वे रिपोर्ट आ जाने के बाद सभी जातियों संख्या की वास्तविक स्थिति सामने आ गई है। इसे देखते हुए आरक्षण बढ़ाना की आवश्यकता महसूस की जा रही है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति के आरक्षण की सीमा को 20 फ़ीसदी कर दिया जाए।  पहले इस वर्ग को 16 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिलता था। इसके साथ ही अनुसूचित जनजाति के आरक्षण को बढ़ाकर 2 प्रतिशत कर दिया जाए जो पहले एक प्रतिशत था।  अत्यंत पिछड़ा वर्ग, ईबीसी और ओबीसी को मिलाकर 43 प्रतिशत आरक्षण देने की बात मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें