ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबिहार में स्कूल टाइम पर टस-मस नहीं होगी नीतीश सरकार, शिक्षा मंत्री बोले- सीएम के आदेश का पालन होगा

बिहार में स्कूल टाइम पर टस-मस नहीं होगी नीतीश सरकार, शिक्षा मंत्री बोले- सीएम के आदेश का पालन होगा

बिहार विधानसभा में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने गुरुवार को सपष्ट किया कि स्कूल के समय को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो घोषणा की है, उसका अनुपलान सुनिश्चित कराया जाएगा। 

बिहार में स्कूल टाइम पर टस-मस नहीं होगी नीतीश सरकार, शिक्षा मंत्री बोले- सीएम के आदेश का पालन होगा
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाThu, 22 Feb 2024 08:38 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के स्कूलों के खुलने और बंद होने के समय को लेकर विधानसभा में लगातार दूसरे दिन गुरुवार को भी हंगामा हुआ। सरकार की घोषणा है कि स्कूलों में शिक्षक सुबह 9.45 बजे आएंगे और 4.15 बजे चले जाएंगे। वहीं, शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किया है कि कक्षाएं दस से चार बजे तक चलेंगी, पर शिक्षक सुबह नौ से पांच बजे तक रहेंगे। इसको लेकर कुछ जिला शिक्षा पदाधिकारियों की ओर से भी पत्र जारी किया गया, जिसमें सुबह साढ़े आठ से नौ बजे तक स्कूल के निरीक्षण करने की बात कही गयी है। वहीं, विधानसभा में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने सपष्ट किया कि स्कूल के समय को लेकर मुख्यमंत्री ने जो घोषणा की है, उसका अनुपलान सुनिश्चित कराया जाएगा। 

विजय चौधरी ने कहा कि स्कूल में शिक्षक सुबह 9.45 बजे आएंगे और शाम में 4.15 बजे तक चले जाएंगे। विधानसभा में विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बाद उन्होंने यह बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ जिलों से जारी पत्र को लेकर जो भ्रम की स्थिति है, उसे भी सरकार देखेगी। वहीं, विपक्ष के सदस्य यह आरोप लगा रहे थे कि शिक्षा विभाग मुख्यमंत्री के आदेश का भी पालन नहीं कर रहा है। 

इससे पहले विधानसभा में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के वायरल वीडियो पर भी विपक्षी सदस्य नारेबाजी करते हुए वेल में आये। कई सदस्यों ने वेल में रखे टेबुल को हाथ से पीटा। विपक्ष सदन में वीडियो दिखाने की बात कह रहा था। इस पर भी शिक्षा मंत्री ने कहा कि यह मामला बुधवार को विधान परिषद में उठा था। परिषद के सभापति को सरकार की ओर से अधिकृत किया गया है कि वे इस वीडियो को देखकर अपनी अनुशंसा करेंगे, जिसे सरकार मानेगी। 

इस पर सभा के अध्यक्ष नंदकिशोर यादव ने कहा कि विधान परिषद के द्वारा इसकी रिपोर्ट का इंतजार करें। इसपर यहां चर्चा अभी जरूरी नहीं है। पूर्व मंत्री प्रो. चंद्रशेखर हाथ में मोबाईल लेकर श्री पाठक का वायरल वीडियो भी सदन में दिखा रहे थे, जिसपर शिक्षा मंत्री ने कहा कि यह उचित नहीं है। विपक्ष श्री पाठक पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे, उनका आरोप है कि पाठक ने अपशब्दों का प्रयोग किया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें