ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबिहार के डीएनए पर सवाल उठाने वाले कांग्रेस नेता रेवंत रेड्डी पर भड़के नीतीश के मंत्री, कह दी बड़ी बात

बिहार के डीएनए पर सवाल उठाने वाले कांग्रेस नेता रेवंत रेड्डी पर भड़के नीतीश के मंत्री, कह दी बड़ी बात

रेवंत रेड्डी के बयान पर भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। हमारे डीएनए पर कटाक्ष करने वालों का हश्र देश ने देखा है। रेवंत रेड्डी की कुंठा का कोई इलाज तो नही है।

बिहार के डीएनए पर सवाल उठाने वाले कांग्रेस नेता रेवंत रेड्डी पर भड़के नीतीश के मंत्री, कह दी बड़ी बात
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाWed, 06 Dec 2023 11:43 PM
ऐप पर पढ़ें

सियासत के डीएनए पर बिहार का स्वर एक जैसा है। बिहार के डीएनए  पर सवाल उठा और पक्ष-विपक्ष के बीच की लकीर मिट गई। बिहार के सियासी धुरंधरों ने तेलांगना के भावी मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी को एहसास कराया कि बिहार का डीएनए क्या है। बिहार का सुर अपने डीएनए पर एक है। यह अगल बात है कि 2015 में यह बंटा हुआ था। रेवंत रेड्डी के बयान पर नीतीश सरकार में मंत्री अशोक चौधरी ने भी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि हमारे डीएनए पर कटाक्ष करने वालों का हश्र देश ने देखा है। रेवंत रेड्डी की कुंठा का कोई इलाज तो नहीं, लेकिन उनकी जानकारी दुरुस्त जरूर कर सकता हूं। ये वही बिहार है जहां आर्यभट्ट और सम्राट अशोक ने जन्म लिया। जहां बापू ने आजादी के लिए सत्याग्रह किया। जहां लोकतंत्र की नींव रखी गई। ये वही बिहारी डीएनए था जिसके सम्पूर्ण आंदोलन से सरकारें हिल गई थीं। 

अशोक चौधरी ने कहा कि मुझे नहीं पता आप किस डीएनए की बात कर रहे हैं। लेकिन अगर आपकी बात सच है तो ये हम बिहारवासियों के लिए गर्व की बात है कि इसी डीएनए वाले एक जननेता नीतीश कुमार ने देश को महिला सशक्तिकरण और विश्व को पर्यावरण संरक्षण की राह दिखाई है। आपको भले हीं केसीआर के डीएनए से दिक्क़त हो, लेकिन हमारे लिए यह गर्व का विषय है कि हमारे बीच से निकल कर हमारा अपना, देश के किसी और राज्य में अपनी धाक जमा रहा है। 

रेवंत रेड्डी के बिहारी डीएनए को तेलंगाना से कमतर बताने पर INDIA गठबंधन में तकरार, कांग्रेस पर भड़की जेडीयू

बिहार के डीएनए को किसी के सर्टिउफिकेट की जरूरत नहीं : राजद 
राजद के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन ने तेलगांवना के कांग्रेस नेता रेवंत रेड्डी के बयान पर तीखी प्रतिक्रया दी है। उन्होंने कहा कि बिहार के डीएनए को लेकर किसी के प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है। बिहार की मेधा का परचम विदेशों में भी लहरा रहा है। देश में सबसे अधिक आईएएस-आईपीएस बिहार ही देता है। अबतक देश में जितने भी राजनीति-सामाजिक व आर्थिक बदलाव हुआ है, उसका नेतृत्व बिहार ने किया है। बिहार में जेपी, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, लालू प्रसाद की जन्म भूम जबकि महात्मा गांवी की कर्मभूमि रही है। जिन लोगों ने बिहार के डीएनए पर सवाल उठाया है, राज्य की जनता ने उन्हें माकूल जवाब दिया है। वहीं राजद के मुख्य प्रवक्ता व पूर्व विधायक शक्ति सिंह यादव ने बुधवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि पार्टी इस तरह के बयानों की भर्त्सना करती है। इस प्रकार का बयान देने से बचना चाहिए। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें